सूरत : आप के पार्षद अपनी पालिका की ग्रांट बगीचों-सोसायटियों में बैंच लगाने खर्च नहीं करेंगे!

अनुदान का उपयोग कहां और कैसे किया जाए इसके लिए आम आदमी पार्टी मांग रही हैं लोगों से सुझाव

हाल ही में सूरत के बीजेपी नेताओं का घोटाला विवादों में रहा था। अधिकांश भाजपा नेताओं ने विकास कार्यों के लिए प्राप्त अनुदान का उपयोग कुछ इस तरह से किया जिससे बहुत विवाद हुआ। अब भाजपा के बेंच के लिए अपने अनुदान का उपयोग करने वाले नेताओं के लिए यह एक बड़ी समस्या सामने आई है, क्योंकि निगम में बैठे आम आदमी पार्टी के पार्षदों ने अपने अनुदान का उपयोग बेंच के लिए नहीं करने का फैसला किया है।
जानकारी के अनुसार भाजपा शासकों द्वारा प्राप्त अनुदानों को विकास कार्यों के बजाय विवादास्पद उद्देश्यों के लिए उपयोग करने में असमर्थता लंबे समय से चर्चा में रही है। अब आम आदमी पार्टी के पार्षद भाजपा नेताओं को प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से सिखा रहे हैं कि विकास के लिए अपने अनुदान का अधिकतम उपयोग कैसे करें। सूरत में कोरोना का संक्रमण सबसे ज्यादा होने पर नगर निगम अनुदान नहीं देने वाले आम आदमी पार्टी के पार्षद अब जनता की राय के आधार पर अनुदान आवंटित करेंगे। हालांकि, बेंच के लिए अनुदान नहीं दिया जाएगा। अनुदान केवल प्राथमिक सुविधा के लिए दिया जाएगा।
आपको बता दें कि पहली बार सूरत नगर निगम में विपक्ष में बैठी आम आदमी पार्टी ने एक अनोखी पहल शुरू की है। नगरसेवकों द्वारा प्राप्त अनुदान का उपयोग जनोपयोगी कार्यों के लिए किया जाएगा। और इसके लिए आम आदमी पार्टी ने लोगों से सुझाव मांगा है कि पार्षद को मिले अनुदान का इस्तेमाल कहां करें! इसके तहत नगरसेवकों द्वारा प्राप्त अनुदान का उपयोग कहां और कैसे किया जाए, यह जानने के लिए जनता को प्रपत्र जारी किए गए हैं।
इस तरह ये फॉर्म आम आदमी पार्टी के हर पार्षद ने तैयार किए हैं। जिसमें आंतरिक पक्की सड़क, सीवर लाइन, पेयजल लाइन, स्ट्रीट लाइट, पेवर ब्लॉक फिटिंग, सोसायटी सहित समाज में कोई अन्य सुझाव होने पर लोगों से जानकारी ली जाएगी। सुझाव मिलने के बाद उसके अनुसार आवंटन करने का प्रयास किया जाएगा, लेकिन ये तय किया गया हैं कि अनुदान में से एक भी रुपया बेंच पर खर्च नहीं किया जाएगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें