दक्षिण गुजरात : सुदूर वनांचल में आम की बाड़ी में यूं इलाज करने को मजबूर है डॉक्टर, अस्पतालों में बिस्तर नहीं!

(Photo Credit : Gujarat Samachar)

कोरोना के बढते मामलों के कारण मात्र सूरत शहर ही नहीं बल्कि, सूरत जिले के गांव के भी हालत लचर है। वह तहसील में दूरी के सुखा बारी नाम के गांव में एक डॉक्टर  ने आम के बगीचे में ही मरीजों को उपचार देना शुरू कर दिया है। यहां पर बेड की व्यवस्था नहीं होने के कारण डॉक्टर ने पेड़ों के नीचे ही मरीजों को लिटा कर जरूरी ट्रीटमेंट शुरू कर दिया है। 
महामारी के कारण सरकारी हॉस्पिटल और निजी हॉस्पिटल में बेड फूल हो गए हैं। मरीजों को उपचार नहीं मिल पा रहा है ऐसे में दूर-दराज के सुखा बारी नाम के गांव में डॉक्टर ने जिन मरीजों को उपचार की जरूरत है।  उन्हें आम के बगीचे के नीचे ही बिस्तर बिछा कर उपचार देना शुरू कर दिया है। हालांकि यह उपचार देने पद्धति सही तो नहीं लेकिन गांव में इतना भी मिल जाए तो भी मरीज की जान बच सकती है। फिलहाल डॉक्टर ने अपना धर्म निभा रहे हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें