'सरदार के वारिस गद्दार नहीं हो सकते और गद्दार कभी सरदार के वारिस नहीं हो सकते!', कांग्रेस नेता परेश धानानी की सूचक टिप्पणी

परेश धानानी

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता खोडलधाम प्रमुख नरेश पटेल के फार्म हाउस पर चाय-नाश्ते के लिये पहुंचे

गुजरात में हार्दिक पटेल को लेकर राजनीतिक गहमागहमी अभी भी चल रही है। हार्दिक पटेल लंबे अरसे से गुजरात प्रदेश कांग्रेस के नेताओं के खिलाफ नाराजगी सार्वजनिक रूप से प्रकट करते जा रहे थे। वहीं दूसरी ओर गुजरात प्रदेश कांग्रेस के आला नेता भी बारी-बारी से हार्दिक को निशाने पर ले रहे थे। इसी राजनीतिक रस्साकशी का नतीजा यह रहा कि बुधवार को हार्दिक पटेल ने कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। इसी बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता परेश धानानी का एक बयान सामने आया है।
राजकोट मैं पाटीदार समाज के अग्रणी और खोडलधाम प्रमुख नरेश पटेल के फार्म हाउस पर परेश धानानी और अन्य वरिष्ठ कांग्रेसी नेता चाय नाश्ते के लिए गए हुए थे। वहां से बाहर निकलकर परेश धानानी ने मीडिया के समक्ष बयान जारी करते हुए सूचक टिप्पणी की। परोक्ष रूप से उनका निशाना हार्दिक पटेल की ओर ही था। परेश धानानी ने कहा कि सरदार के वारिस गद्दार नहीं हो सकते और गद्दारों से सरदार के वारिस नहीं हो सकते। 
नरेश पटेल के राजनीति में प्रवेश के संबंध में पूछे जाने पर परेश उन्होंने कहा कि क्योंकि वह और अन्य कांग्रेसी नेता पार्टी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए राजकोट आए हुए थे ऐसे में नरेश पटेल के साथ उनकी मुलाकात सिर्फ सौजन्य स्तर पर ही थी। इसमें किसी प्रकार की राजनीतिक चर्चा नहीं हुई है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें