अब चंद मिनटों में होगा कोरोना का टेस्ट, वैज्ञानिकों ने ढूंढ निकाली नई तकनीक

प्रतिकात्मक तस्वीर

दुनिया भर में कोरोना ने अपना कहर ढाया है। हालांकि किसी भी व्यक्ति को कोरोना संक्रमण है या नहीं इसका पता लगाने के लिए किए जाने वाले टेस्ट में काफी समय लगता था। हालांकि स्कॉटिश वैज्ञानिकों ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर आधारित एक ऐसा तरीका विकसित किया है जिससे एक्स-रे की सहायता से मिनटों में कोविड -19 का पता लगाया जा सकेगा। यूनिवर्सिटी ऑफ वेस्ट ऑफ स्कॉटलैंड (UWS) के शोधकर्ताओं द्वारा विकसित, यह परीक्षण विधि पीसीआर परीक्षणों की तुलना में तेजी से कोरोनावायरस संक्रमण का पता लगा सकती है।
वैज्ञानिकों ने कहा कि इस तकनीक की सहायता से अस्पतालों पर बोझ कम होगा, खासकर उन देशों में जहां पीसीआर परीक्षण सेवाएं उपलब्ध नहीं हैं। सेंसर्स जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, यह तकनीक 98 प्रतिशत से अधिक सटीक है। शोध का नेतृत्व करने वाले यूडब्ल्यूएस के प्रोफेसर नईम रमजान ने कहा, फिलहाल एक ऐसे कोविड डिटेक्शन डिवाइस की जरूरत है जो जल्द से जल्द परिणाम दे सके और अधिक से अधिक सटीक भी हो। बढ़ते हुये ओमिक्रोन वेरिएंट के कारण कई देशों में कोविड परीक्षण पूरे प्रमाण में नहीं हो पा रहे है। 
यह तकनीक वायरस को तेजी से ढूंढ सकती है। संशोधकों के अनुसार, संक्रमण के प्रारंभिक स्टेज में एक्स-रे में कोविड-19 के लक्षण नहीं दिखाई देते है। इसके चलते यह तकनीक पूरी तरह से पीसीआर परीक्षण की तकनीक को रिप्लेस नहीं कर सकती। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें