उत्तर कोरिया : आर्थिक तंगी से जूझने के बाद भी लगातार हो रहा है मिसाइल परीक्षण

(Photo : IANS)

मिसाइल परीक्षण से फिर बढ़ा अमेरिका से साथ तनाव

उत्तर कोरिया की आर्थिक स्थिति दिन-ब-दिन खराब होती जा रही है। दो वक्त के खाने की भारी कमी के बावजूद, वे मिसाइल परीक्षणों से बाज नहीं आ रहे हैं। उत्तर कोरिया के सनकी तानाशाह किम जोंग उन ने दुनिया के लिए खतरा बनने वाली लंबी दूरी की क्रूज मिसाइल का परीक्षण किया है। उत्तर कोरिया के राज्य मीडिया ने परीक्षण की सूचना दी है। कहा जाता है कि क्रूज मिसाइल ने लगभग 1500 किमी दूर अपने लक्ष्य पर निशाना साधा। उत्तर कोरिया ने मिसाइल को "रणनीतिक हथियार" कहा है। मिसाइल परीक्षण के बाद से एक बार फिर उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच तनाव काफी बढ़ गया है।
आपको बता दें कि उत्तर कोरिया खाद्य संकट से जूझ रहा है। वहां के लोगों को खाना भी मुश्किल से मिल रहा है। इस पर भी तानाशाह किम जोंग उन मिसाइल परीक्षणों पर पैसा खर्च करते नजर आ रहे हैं। जून में आई एक रिपोर्ट से पता चला है कि देश में खाद्य पदार्थों की कीमतें आसमान छू रही हैं। एक किलोग्राम केले की कीमत 3,300 रुपये तक पहुंच गई थी। इस पर  उत्तर कोरिया ने कहा कि सत्तारूढ़ वर्कर्स पार्टी के नेता मिसाइल परीक्षण के दौरान मौजूद थे। इसके अलावा उत्तर कोरिया के रक्षा क्षेत्र से जुड़े अधिकारी और वैज्ञानिक मौजूद रहे। कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी ने बताया कि मिसाइल का परीक्षण 11 और 12 सितंबर को किया गया था। उन्होंने अपनी रिपोर्ट में कहा कि लंबी दूरी की क्रूज मिसाइल ने 7580 सेकेंड की उड़ान भरी और 1500 किमी की दूरी से अपने लक्ष्य को भेद दिया।
उत्तर कोरिया ने मिसाइल का परीक्षण ऐसे समय में किया जब दक्षिण कोरिया और संयुक्त राज्य अमेरिका ने 16 से 26 अगस्त तक युद्ध के खेल आयोजित किए। अभ्यास के दौरान उत्तर कोरिया नाराज हो गया, उसने वाशिंगटन और सियोल पर क्षेत्र की सुरक्षा को खतरे में डालने का आरोप लगाया। तानाशाह किम जोंग उन की बहन किम यू जोंग ने अमेरिका और दक्षिण कोरिया को चेतावनी दी है।  इससे पहले अमेरिकी सेना के प्रवक्ता ग्लेन वानहेर्क ने संवाददाताओं से कहा था कि अमेरिका उत्तर कोरिया की ओर से दागी गई किसी भी मिसाइल का जवाब देने के लिए तैयार है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें