सूरत में आरटीई के तहत स्कूलों में प्रवेश शुरू करने जिला कलेक्टर को ज्ञापन

सूरत में आरटीई के तहत स्कूलों में प्रवेश शुरू करने शहर कांग्रेस द्वारा ज्ञापन दिया

सूरत में आरटीई के तहत गरीब छात्रों को निजि स्कूलों में प्रवेश की व्यवस्था शुरू कराने के लिए शहर कांग्रेस ने कलेक्टर को ज्ञापन दिया।

शहर कांग्रेस द्वारा जल्द से जल्द यह प्रक्रिया शुरू करने की मांग की गयी
सूरत शहर जिले में राईट टु एज्युकेशन (आरटीई) अंतर्गत हर साल हजारों गरीब छात्रों को निजी स्कूलों में प्रवेश दिया जाता है। जिससे गरीब परिवार के छात्र भी निजी स्कूल में पढ़ने का लाभ प्राप्त करते है। राज्य में 2021-22 का ऑनलाईन शैक्षणिक सत्र शुरू हो गया उसके बावजुद सूरत मे आरटीई के तहत प्रवेश प्रक्रिया पुर्ण न होने पर कांग्रेस कमिटी ने जिला कलेक्टर को ज्ञापन दिया। 
सूरत शहर कांग्रेस कमिटी के उपाध्यक्ष हरीश सुर्यवंशी की अगुवायी में जिला कलेक्टर को आरटीई के तहत छात्रों को प्रवेश व्यवस्था शुरू करने के लिए ज्ञापन दिया गया। सूरत शहर में आरटीई के तहत करीबन 10 से 12 हजार छात्र लाभ से वंचित रह जाए ऐसी परिस्थिति का निर्माण हुआ है। मार्च महिने के दौरान प्राथमिक शिक्षा नियामक और शिक्षा मंत्री ने आरटीई के तहत प्रवेश प्रक्रिया की जानकारी दी थी। 2021-22 के वर्ष दौरान छात्र आरटीई का लाभ प्राप्त कर सकते है मगर उदासीन शिक्षा विभाग के कारण आज तक यह प्रक्रिया शुरू नही हो पायी। 
हरीश सुर्यवंशी ने जिला कलेक्टर को ज्ञापन देते हुए  कहा कि स्कूलों में नया सत्र शुरू हो चुंका है इस लिए जल्द से जल्द यह प्रक्रिया शुरू की जाए। इस प्रक्रिया के लिए कम से कम दो से तीन महिने को समय लगेगा। छात्रों का प्रथम सत्र ऐसे ही निकल जायेगा मगर प्राथमिक शिक्षा वर्तमान में बंद होने से छात्रों को दुसरे सत्र में प्रवेश मिलने की उम्मीद दिखती है। जिला कलेक्टर के माध्यम से यह पेशकश राज्य के शिक्षा मंत्री, मुख्य सचिव और शिक्षा सचिव तक पहुचाने की मांग कलेक्टर से की गयी। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें