मध्यप्रदेश : बैंड बाजे के साथ निकाली गई इस बंदर की शवयात्रा, जानें क्या था कारण

(Photo Credit : vtvgujarati.com)

मध्य प्रदेश राजगढ़ जिले से एक अनोखी घटना सामने आई है। यहाँ एक गांव में एक बंदर की अंतिम यात्रा निकाली गई है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले के धनपुरा गांव में यह बंदर हर दिन आता जाता रहता था। इसके चलते गांव वालों को बंदर के साथ काफी लगाव हो गया था।
29 दिसंबर को इस बंदर की मृत्यु हो गई। जिसके चलते सभी गांव वाले भी काफी दुखी हो गए थे। सभी ने मिलकर हनुमान के प्रतीक स्वरूप बंदर की अंतिम यात्रा निकलवाने का निर्णय किया। जिसके लिए गांव के सभी लोगों ने अपनी इच्छाशक्ति अनुसार दान किया।
गांव वालों ने मिलकर बैंड बाजे के साथ इस बंदर की अंतिम यात्रा निकाली। जिस दौरान लगातार हनुमान जी के भजन गाए जा रहे थे। श्मशान घाट में भी लाने के बाद बंदर को सभी रीति रिवाज के साथ समाधि दी गई। अंतिम विधि के बाद गांव वालों ने सभी के लिए भोजन का आयोजन किया। जिसके लिए एक बड़ा टेंट भी लगाया गया। जब जिला तंत्र को भोजन आयोजन की जानकारी मिली, तब उन्होंने इस अंजान भीड़ के खिलाफ कोरोना प्रोटोकॉल का भंग करने का केस दर्ज कर दो लोगों को हिरासत में लिया है ।बता दें कि पूरे कार्यक्रम में तकरीबन 1500 लोगों ने एक साथ मिलकर भोजन किया है। पुलिस की इस कार्यवाही के बाद सभी गांव वाले अपना घर छोड़कर दूसरे जगह पर झुकने को मजबूर हो 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें