जानें किसान नेता राकेश ‌टिकैत किस ग्लोबल एवॉर्ड के लिये हुए नामित, बढ़ रही ख्याति

कृषि कानून बिल के खिलाफ शुरू किये आंदोलन को इतना लंबा चलाने और आंदोलन को जीवंत रखने की वजह से मिल रहा सम्मान

कुछ दिन पहले प्रधानमंत्री मोदी द्वारा कृषि कानून की वापसी के साथ भारत में लंबे वक्त से चले आ रहे किसान आंदोलन अंत की ओर है। इस आंदोलन के मुख्य नेता और भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है। ब्रिटेन के स्कवॉयर वाटरमेलन द्वारा दिए जाने वाले 21वीं सदी के आइकन अवार्ड-2021के लिए राकेश टिकैत को चुना गया है। टीवी 9 भारतवंश के अनुसार कृषि कानून बिल के खिलाफ शुरू किये आंदोलन को इतना लंबा चलाने और आंदोलन को जीवंत रखने की वजह से उन्हें इस पुरस्कार के लिए चयनित किया गया है। 10 दिसंबर को विजेताओं की घोषणा लंदन में की जाएगी। लंदन की स्क्वेयरड वाटरमेलन कंपनी दुनिया के लिए मिसाल बनने वाली शख्सियतों को हर साल आइकॉन अवॉर्ड देती है। इसी कड़ी में 2021 के अवॉर्ड के लिए नामांकन लिस्ट में किसान नेता राकेश टिकैत का नाम भी शामिल किया गया है।
राकेश टिकैत की बात करें तो राकेश महेंद्र सिंह टिकैत के दूसरे बेटे और नरेश टिकैत के भाई हैं। मुजफ्फरनगर जनपद के सिसौली गांव में 4 जून 1969 को जन्में राकेश टिकैत की पहचान ऐसे व्यवहारिक नेता की रही है जो धरना-प्रदर्शनों, आंदोलनों के साथ-साथ किसानों के व्यवहारिक हित की बात सरकार के सामने रखते रहे हैं। इस वक्त भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता और संगठन की कमान संभालने वाले राकेश ही हैं। वहीं इस संगठन की बात करें तो ये उत्तर प्रदेश और उत्तर भारत समेत पूरे देश में फैला हुआ है। केंद्र के तीन कृषि कानूनों और अन्य मांगों को लेकर पिछले एक साल से किसान आंदोलन चल रहा है। जिस की अगवाई मुख्य रूप से राकेश टिकैत ने की।
वहीं कृषि कानून वापस लिए जाने के बाद लंदन की कंपनी ने अवार्ड के लिए राकेश टिकैत का नामांकन किया है। 10 दिसंबर को लंदन में ही विजेताओं की घोषणा की जाएगी। लंबा आंदोलन चलाने और आंदोलन को जीवंत रखने की वजह से टिकैत का चयन किया गया है। कंपनी की ओर से इससे पहले पार्श्व गायक सोनू निगम, शंकर महादेवन, फैशन के लिए राघवेंद्र राठौर, तकनीकि क्षेत्र के लिए धीरज मुखर्जी को यह अवार्ड मिल चुका है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें