जानिये किस बॉलीवुड दिग्गज ने कहा, आजकल के बॉलीवुड सितारों में अमिताभ-शाहरूख जैसा करिश्मा नहीं!

लगातार हिंदी फिल्मों के फ्लॉप होने से पूरी फिल्म जगत में उथल-पुथल मची हुई है

पिछले कुछ समय से बॉलीवुड की दशा-दिशा अच्छी नहीं चल रही है। लगातार हिंदी फिल्मों के फ्लॉप होने से पूरी फिल्म जगत में उथल-पुथल मची हुई है। क्षय कुमार से लेकर अजय देवगन और कंगना रनौत तक की फिल्में  रिलीज के अगले ही दिन दर्शकों से नदारत नजर आती हैं। शाहिद कपूर, रणवीर सिंह जैसे स्टा र्स की फिल्में  भी फ्लॉप हो रही हैं। रणबीर कपूर की फिल्मि 'ब्रह्मास्त्र ' के ट्रेलर के आते ही उसके बायकॉट की भी मांग शुरू हो जाती है। यह सब अचानक ही नहीं हुआ है। बॉलिवुड को लेकर लोगों में गुस्सां है।  ऐसे में टॉप प्रोड्यूसर करण जौहर ने माना है कि बॉलीवुड में क्वालिटी की कमी हैं। साथ ही सुपरस्टार्स के दिन खत्म हो गए हैं। करण का मानना है कि आज के सितारों के पास अमिताभ या शाहरुख की तरह अदाकारी की जादूगिरी नहीं है।
आपको बता दें कि करण ने 'मुझे नहीं लगता कि आज के नए कलाकारों में अमिताभ बच्चन, दिलीप कुमार साहब या शाहरुख खान जैसा जादू है। उन जैसा औरा है। ये लोग जब भी कहीं पहुंचते थे, किसी पार्टी में भी हर किसी की नजर उन पर होती थी। उनके कहीं होने मात्र से माहौल बदल जाता था। वह औरा, यह भाव अब खत्मक हो रहा है। आज के न्यूककमर ऐक्टार्स कैजुअल हैं, उन तक आसानी से लोगों की पहुंच है। लिहाजा, उनकी मौजूदगी में वह ताकत नहीं झलकती।' करण अपने 50वें जन्मोदिन की पार्टी का भी जिक्र करते हैं। वह कहते हैं, 'जब Shah Rukh Khan पार्टी में आए तो वहां मौजूद हर इंसान ने एक अलग एनर्जी महसूस की। आपको पता है कि वह शाहरुख खान हैं। उनके कदमों की आहट से ही आपको उनके बॉलिवुड के किंग होने का एहसास होता है। आप शाहरुख खान की पर्सनैलिटी को महसूस करते हैं। 
साथ ही करण ने कहा कि हिंदी फिल्म निर्माताओं में उतना आत्मविश्वास नहीं है जितना कि साउथ के क्रिएटर्स में। यहां सभी भेड़चाल में विश्वास करते हैं। साथ ही पेड पीआर के कारण स्थिति और खराब हो गई है। हमने वह सब कुछ अपनाया है जिससे हमें बचना चाहिए। जबकि दक्षिण किसी की स्वीकृति की परवाह नहीं करता।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें