जापान ने शुरू किया 6G पर ट्रायल, मात्र 10 सेकेंड में ही डाउनलोड हो जाएगी पूरी मूवी

जापान ने 2030 तक 6जी टेक्नो लॉजी को लॉन्चे करने के लिए एक व्याोपक रणनीति बनाने पर काम शुरू कर दिया है

एक तरफ भारत में अभी तक लोग 4जी पर ही पहुंचे है और अभी तक 5G सर्विस आम लोगों के लिए शुरू नहीं हुई हो, वहीं जापान में अब 6G लॉन्च करने की तैयारी शुरू हो गई है। जापान ने 2030 तक 6जी टेक्नोलॉजी को लॉन्चे करने के लिए एक व्या पक रणनीति बनाने पर काम शुरू कर दिया है। ऐसा माना जा रहा है कि नई 6जी टेक्नोालॉजी वर्तमान 5जी की तुलना में 10 गुना अधिक तेज होगी।
जानकारी के अनुसार जापान के इंटरनेट और संचार मंत्रालय ने जनवरी में ही यूनिवर्सिटी ऑफ टोक्योग गोशिनजिन की अध्यरक्षता में एक सरकारी-सार्वजनिक रिसर्च सोसायटी का गठन करेगा। रिपोर्ट में कहा गया है कि सामान्यज मामलों के मंत्री तकाओ साने इस परियोजना पर सीधे निगरानी रखेंगे।
अमेरिका की इन्वेास्टरमेंट बैंकिंग और फाइनेंशियल सर्विस कंपनी गोल्डतमैन सैक्सन ने अनुमान जताया है कि 2020 में पूरी दुनिया में 20 करोड़ 5जी स्माार्टफोन की बिक्री होगी। नया अनुमान 2019 में हुई कुल बिक्री से लगभग 20 गुना अधिक है। हालांकि 6G लॉन्च करने को लेकर काम शुरू करने वाला जापान एकलौता देश नहीं है। जापान के अलावा दुनिया के 4 और ताकतवर देशों चीन, अमेरिका, साउथ कोरिया, यूरोप ने भी इस पर काम शुरू कर दिया है।
अनुमान के मुताबिक, 2020 में चीन में 10 लाख से अधिक नए 5जी बेस स्टेरशन होंगे। गोल्डनमैन सैक्सन द्वारा व्यरक्तै वास्ताविक 6,00,000 के अनुमान से यह कही अधिक होगा। अगर हम स्पीड की तुलना करने बैठे तो अभी हम 4G इंटरनेट का उपयोग कर रहे हैं। इंटरनेट नेटवर्क की छठी जेनरेशन को 6G और इससे एक पीछे की जेनरेशन 5G कहा जाता है। 6G टेक्नोलॉजी की स्पीड 1 Tbps या 8000 Gbps होने का दावा किया जा रहा है। यानी दोनों की स्पीड की बात करें तो 5G की इंटरनेट स्पीड 10 Gbps है जबकि 6G की स्पीड 1000 Gbps है। नई तकनीक के बाद कम से कम 10 गुना तेज इंटरनेट स्पीड होगी, जिसे 100 गुना तेज स्पीड तक इजाफा भी हो सकता है। अगर मूवी डाउनलोड करने हिसाब से देखें तो सिर्फ 10 सेकेंड में ही पूरी मूवी डाउनलोड हो जाएगी। हालांकि ये स्पीड जगह और डिवाइस पर निर्भर करेगी। जरा सोचिए जब 5G नेटवर्क इतना तेज होगा तो 6G का कमाल करना तो तय है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें