भारत ने रूस के साथ 4 समझौते किए, 6 लाख से अधिक एके-203 राइफल्स की होगी खरीदी

(Photo Credit : IANS)

दोनों रक्षा मंत्रियों ने सैन्य और सैन्य-तकनीकी सहयोग पर 20वें भारत-रूस अंतर-सरकारी आयोग के एक प्रोटोकॉल पर भी हस्ताक्षर किए

नई दिल्ली, 6 दिसम्बर (आईएएनएस)| भारत और रूस ने सोमवार को चार समझौतों पर हस्ताक्षर किए, जिसमें छह लाख से अधिक एके-203 असॉल्ट राइफलों की खरीद का अनुबंध भी शामिल है। राष्ट्रीय राजधानी में सैन्य और सैन्य-तकनीकी सहयोग पर अंतर-सरकारी आयोग की बैठक के दौरान निर्णय लिया गया, जिसकी अध्यक्षता रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और उनके रूसी समकक्ष जनरल सर्गेई शोइगु ने की।
अपने उद्घाटन भाषण में, सिंह ने रूस को भारत के लंबे समय से स्थायी, विशेष और विशेषाधिकार प्राप्त रणनीतिक साझेदार करार दिया और कहा कि दोनों देशों के बीच संबंध बहुपक्षवाद, वैश्विक शांति और समृद्धि, आपसी समझ और विश्वास में समान हितों पर आधारित हैं। सिंह ने भारत के लिए रूस के मजबूत समर्थन की सराहना की और जोर देकर कहा कि निकट सहयोग किसी अन्य देश के खिलाफ लक्षित नहीं है। उन्होंने उम्मीद जताई कि इस सहयोग से क्षेत्र में शांति, समृद्धि और स्थिरता आएगी और रक्षा सहयोग द्विपक्षीय साझेदारी के सबसे महत्वपूर्ण स्तंभों में से एक है। 
(Photo Credit : IANS)
सिंह ने शोइगु के समक्ष कहा, सैन्य और सैन्य-तकनीकी सहयोग पर भारत-रूस अंतर-सरकारी आयोग पिछले दो दशकों से एक अच्छी तरह से स्थापित तंत्र रहा है। यह रक्षा सहयोग के लिए पारस्परिक रूप से सहमत एजेंडे पर चर्चा करने और लागू करने के लिए एक मंच प्रदान करता है। आप कई वर्षों से इन चचार्ओं में सक्रिय रूप से शामिल रहे हैं। मैं हमारे द्विपक्षीय रक्षा सहयोग को मजबूत करने के लिए आपके बहुमूल्य व्यक्तिगत योगदान के सम्मान के साथ स्वीकार करना चाहता हूं। सिंह ने आगे कहा कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच शिखर बैठक एक बार फिर उभरती भू-राजनीतिक परिस्थितियों में भारत और रूस के बीच विशेष और विशेषाधिकार प्राप्त रणनीतिक साझेदारी की गहराई और महत्वपूर्ण महत्व की पुष्टि करती है।
उन्होंने पहली बार भारत-रूस टू-प्लस-टू मंत्रिस्तरीय संवाद को दोनों देशों के नेताओं द्वारा की गई एक विशेष पहल के रूप में वर्णित किया, जो दोनों देशों के बीच सहयोग की उच्च प्रासंगिकता और आवश्यकता का संकेत देता है। बैठक के अंत में, दोनों देशों ने चार समझौतों, अनुबंधों और प्रोटोकॉल पर हस्ताक्षर किए। इससे पहले तीन दस्तावेजों पर दो पक्षों के अधिकारियों द्वारा हस्ताक्षर किए गए थे, प्रोटोकॉल पर भारत और रूस के रक्षा मंत्रियों द्वारा हस्ताक्षर किए गए हैं। 18 फरवरी, 2019 को कलाश्निकोव श्रृंखला के छोटे हथियारों के निर्माण के क्षेत्र में सहयोग पर भारत और रूस के बीच एक समझौते में सहमति बनी थी।
इस अवसर पर भारत-रूस राइफल्स प्राइवेट लिमिटेड के माध्यम से 6,01,427 एके-203 असॉल्ट राइफलों की खरीद का अनुबंध किया गया। दोनों देशों ने 2021-2031 तक सैन्य तकनीकी सहयोग के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए। दोनों रक्षा मंत्रियों ने सैन्य और सैन्य-तकनीकी सहयोग पर 20वें भारत-रूस अंतर-सरकारी आयोग के एक प्रोटोकॉल पर भी हस्ताक्षर किए।
(Disclaimer: यह खबर सीधे समाचार एजेंसी की सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है। इसे लोकतेज टीम ने संपादित नहीं किया है।)

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें