सूरत में कोरोना संक्रमण चेन तोडने में पालिका का महत्वपुर्ण निर्णय

टोल टेक्ष पर स्वास्थ विभाग द्वारा कोरोना की जांच

सूरत शहर में कोरोना संक्रमण पर काबु पाने के लिए मनपा आयुक्त ने बाहर गांव से आनेवाले बिमार लोगों को प्रवेश नही देने का निर्णय लिया है।

बाहरगांव से मुसाफरी करके आनेवाले लोगों में सर्दी, बुखार, खांसी हुई तो शहर में प्रवेश बंदी
सूरत शहर में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है और संक्रमण की चेन तोडने के लिए महानगरपालिका हररोज विभिन्न प्रकार के प्रयास कर रही है। शहर में बाहरगांव से आनेवाले लोगों में अगर बिमारी के लक्षण दिखते है तो उन्हे अब शहर में प्रवेश नही देने का महानगरपालिका आयुक्त ने निर्णय लिया है। 
मनपा आयुक्त ने प्रेस विज्ञप्ती के माध्यम से जानकारी देते हुए कहा कि शहर में बाहरगांव से आनेवाले लोगों की वजह से संक्रमण फैल रहा है। विशेषरूप से महाराष्ट्र और सौराष्ट्र से आनेवाले लोग शहर में संक्रमण फैला रहे है। महानगरपालिका बाहरगांव से आनेवाले लोगों से अपिल करती है क‌ि अगर आपको सर्दी, बुखार और खांसी हुई तो आप जहा हो वही रहे सूरत आने का प्रयास न करे। सूरत शहर में प्रवेश के सभी एन्ट्री पोईन्ट पर कोरोना टेस्टींग आवश्यक कर दिया है। बाहरगांव से आनेवाले व्यक्ति में अगर कोरोना के लक्षण हो या सर्दी, बुखार और खांसी जैसे लक्षण दिखे तो उस व्यक्ति को आवश्यक रूप से कोरोन्टीन होना होगा। शहर में सौराष्ट्र और महाराष्ट्र से आनेवाले लोगों में थोडे भी लक्षण दिखे तो उन्हे सुरत में प्रवेश नही दिया जायेगेा। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें