आईडीटी के छात्रों को मिला गुजरात के सबसे बड़े फर्नीचर डिज़ाइन प्रदर्शनी में अपनी कलात्मक क्षमता दिखाने का सुनहरा मौका!

IDT के छात्रों को मिला स्थापत्य एग्जिबिशन मैं अपनी कला दिखाने का मौका

इंस्टिट्यूट ऑफ़ डिज़ाइन एंड टेक्नोलॉजी (आईडीटी ) न केवल अपने छात्रों को नवीन अवधारणाओं को विकसित करने के लिए प्रोत्साहित करता है बल्कि उन्हें यह भी शिक्षित करता है कि उन्हें सफलतापूर्वक कैसे कार्यान्वित किया जाए। छह टीमों में विभाजित 60 से अधिक छात्रों ने 45 दिनों के गहन प्रयास और समर्पण के दौरान अवधारणा विकास से लेकर तकनीकी और कार्यान्वयन तक, 35 इंटीरियर उत्पाद और 6 फर्नीचर बनाने के लिए, पूरी डिजाइन प्रक्रिया में अथक प्रयास किया।    
उत्पाद आधुनिक स्थापत्य क्षेत्र को फिर से परिभाषित करने की सूक्ष्म कला को दर्शाते हैं। IDT के इंटीरियर डिजाइनिंग के छात्र-छात्राओं के द्वारा विभिन्न अद्भुत प्रोडक्ट एवं फर्नीचर की तैयारी बहुत जोर शोर से चल रही है और इसका मूल्यांकन करने हेतु इंटीरियर इंडस्ट्री से जुड़े नामी आर्किटेक्ट मनीष गज्जर (अध्यक्ष, ICEA), श्री कमलेश वैष्णव जी, श्री निराल शाह जी, श्री दीपेश शाह जी, श्री दिलीप पटेल जी, श्री तुषार मेहता जी व श्री. पिनाक देसाई जी को जूरी पैनल के रूप में आमंत्रित किया गया। जिन्होंने छात्रों को उनकी उत्कृष्ट कृतियों के लिए प्रोत्साहित किया। 
आईडीटी विशेषज्ञ टीम  - सुश्री एकता, आर्किटेक्ट आसिफ, श्री केयूर और सुश्री पारुल, एवं प्रीति Ganatra के नेतृत्व के तहत छात्रों ने विशेष फर्नीचर और इंटीरियर डिजाइन उत्पाद को विभिन्न कला शैलियों जैसे - मंडला, मड मिरर, स्ट्रिंग, इत्यादि के साथ बनाया जिसे गुजरात की सबसे बड़ी फर्नीचर डिजाइन प्रदर्शनी - स्थापत्य 2022 में  प्रदर्शित किया जायेगा। इन प्रोडक्ट को सुश्री जील (रचनात्मक प्रमुख), श्री मनीष और सुश्री चारू (आर्टिफेस्ट के संस्थापक) की सलाह  के द्वारा बनाया गया है।
आईडीटी के  निर्देशक श्री अनुपम गोयल ने कहा कि- "छात्रों ने शानदार काम किया है और वास्तुकला उद्योग को एक असाधारण डिजाइन प्रदान किया है । इसका पूरा श्रेय  छात्रों  और आईडीटी की इंटीरियर  टीम को  जाता है। उनकी कलात्मकता कौशल का संपूर्ण डिजाइन निर्माण 25 फरवरी से 28 फरवरी तक स्थापत्य में प्रदर्शित किया जाएगा! "

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें