गुजरात : भरूच के सरकारी अस्पताल में श्वान का हुआ सफल ब्रेस्ट कैंसर का ऑपरेशन, डेढ़ किलो की गांठ निकाली गई

(Photo Credit : watchgujarat.com)

ढाई घंटे तक चले ऑपरेशन में आधुनिक मशीनों का किया गया इस्तेमाल

गुजरात के भरूच जिले से मानवता का एक बड़ा उदाहरण सामने आया है। भरूच जिले के आदिवासी वालिया तहसील से एक ऐसा मामला सामने आया है, जिससे लोगों का मानवता में एक बार फिर से भरोसा हो जाता है। भरूच जिले के वालिया तहसील में एक कुत्ते का आधुनिक मशीनों से इलाज कर उसके स्तन कैंसर का सफलतापूर्वक इलाज किया है। सरकारी जानवरों की अस्पताल में आधुनिक मशीनों की सहायता से ढाई घंटे तक चले एक ऑपरेशन में श्वान के शरीर में डेढ़ किलो स्तन कैंसर की गांठ को सफल तौर पर निकाला गया था। 
विस्तृत जानकारी के अनुसार, वालिया के दाजीपरा गाँव के किरण वसावा नाम के व्यक्ति का ग्रेट डेन प्रजाति का पालतू श्वान जिमी बीमार हुआ था। 20 सितंबर को वह जिमी को लेकर वालिया पशु अस्पताल ले गए थे। जाहन पशु चिकित्सक डॉ हार्दिक पटेल ने जिमी को स्तन कैंसर होने की जानकारी दी थी। मादा श्वान जिमी की जान बचाने के लिए ऑपरेशन के अलावा और कोई भी विकल्प नहीं था, इसके चलते हार्दिक पटेल और उसकी टीम ने ऑपरेशन शुरू किया था।
आधुनिक मशीनों की मदद से हुये इस ऑपरेशन में डेढ़ किलो की गांठ निकाली गई थी। सरकारी दवाखाने में कम करने वाले डॉ हार्दिक पटेल ने बताया कि महिलाओं की तरह फ़ीमेल डॉग में भी ब्रेस्ट कैंसर की समस्या होना काफी आम है। हालांकि उसका इलाज नहीं होने पर वह बाहर नहीं आने पर अधिकतर किस्सों में श्वान की मौत हो जाती है। आम तौर पर पालतू जानवरों में तो मालिक द्वारा जांच करवाने पर यह बीमारी पता चल जाती है और उनका इलाज हो जाता है। पर सड़क पर भटक रहे कुत्तों में ब्रेस्ट कैंसर का प्रमाण काफी ज्यादा हो सकता है, क्योंकि उनकी कभी जांच भी नहीं होती।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें