गुजरात : प्रदेश में कोरोना की स्थिति में हल्के सुधार के बीच जानें रात्रि कर्फ्यू पर क्या बोले प्रदीप सिंह जाड़ेजा

गुजरात प्रदेश गृह राज्य मंत्री प्रदीप सिंह जाड़ेजा (PC: facebook.com/PradipsinhGuj)

गुजरात में कोरोना वायरस के मामलों में क्रमशः कमी देखी जा रही है। वहीं प्रदेश के 36 शहरों में रात का कर्फ्यू लागू है। इन सभी शहरों में कुछ प्रतिबंधों के साथ विभिन्न कामकाजी प्रतिष्ठान चल रहे हैं, जीवन की आवश्यकताओं के उत्पादों की बिक्री करने वाली दुकानों को खुला रखा गया है। लेकिन अधिकांश बाजार बंद हैं। 
ऐसे में अब आने वाले दिनों में प्रदेश में रात के कर्फ्यू की क्या स्थिति रहेगी इसके बारे में राज्य के गृह मंत्री प्रदीपसिंह जाड़ेजा ने एक बयान में कहा है कि कर्फ्यू की वर्तमान समयसीमा पूरी होने तक प्रदेश के विभिन्न तालुका की स्थिति को देखते हुए कोर कमेटी में फैसला लिया जाएगा।
प्रतिकात्मक तस्वीर
गौरतलब है कि 36 शहरों में उन व्यापारियों के बीच नाराजगी की भावना है, जिन्हें अपने प्रतिष्ठान बंद रखने पड़ रहे हैं क्योंकि उनका कारोबार जीवन की आवश्यकताओं वाले नियम में नहीं आता। कुछ दिन पहले राजकोट के व्यापारियों ने भी विरोध किया था और दो दिन पहले वड़ोदरा के व्यापारियों का भी ऐसा ही सूर था। व्यापारियों की मांग है कि अगर सरकार कोरोना संक्रमण को पूरी तरह से रोकना चाहती है तो सरकार को संपूर्ण लॉकडाउन करना चाहिये, आधा-अधूरा लॉकडाउन काम का नहीं। यदि बंद करने हैं तो सभी व्यवसाय बंद करने चाहिये। बता दें कि प्रदेश में कल-कारखाने चालू हैं और दुकान बंद। ऐसे में उत्पादन तो हा रहा है लेकिन दुकानों में बिक्री नहीं।
दूसरी ओर, मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने यह भी स्पष्ट किया कि राज्य में लॉकडाउन की कोई आवश्यकता नहीं है क्योंकि कोरोना के मामलों में कमी आ रही है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें