गुजरात : बस को यात्रियों से मरवाया धक्का, तो ड्राइवर हो गया सस्पैंड!

प्रतिकात्मक तस्वीर (Photo Credit : contactinformation.in)

एसटी बस के खराब होने पर ड्राइवर द्वारा बस को यात्रियों से धक्का मरवाने के बाद उसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल किया, हुई कार्रवाई

प्रदेश के वलसाड डिविजन के वलसाड डिपो  और आहवा डेपो में ड्यूटी पर कार्यरत दो ड्राइवरों को सस्पेंड करने का मामला सामने आया है। वलसाड एसटी डिपो में बीते तीन-चार साल में 40-50 स्टाफ को नौकरी में से सस्पेंड कर दिया गया है। उसी तरह की और एक घटना में हाल में ही दो अन्य ड्राइवरों को भी सस्पेंड कर दिया गया।

यात्रियों से मरवाया था झगड़ा

वलसाड विभाग के वापी डिपो में कार्यरत साजिद समा यूनुस ने पहले वापी डिपो में ड्यूटी के दौरान 10 फरवरी के रोज आहवा से अहमदाबाद वाया कालीबेल रूट पर यात्रियों से भरी बस नंबर 3080 को लेकर जाते समय पिपरी गांव से आगे बस रूक जाने पर बस को यात्रियों से धक्का मरवाया था और रेडिएटर में पानी भरवाया था। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। इसके बाद पीपली गांव से आगे बस नहीं चल रही थी तब एसटी डेपो में टेलीफोन से जानकारी दी गई। इस दूसरी गाड़ी भेजी गई। इस दौरान यात्रियों को बस चालू करने के लिए धक्का मरवाया गया था। यह वीडियो भी सोशल मीडिया में वायरल हुआ था।

बताया जा रहा है कि बस ड्राइवर साजिद समा युनुस ने खुद ही वीडियो वायरल किया था। जिसके बाद इसकी जांच के निर्देश दिए गए थे। इसके बाद जांच के दौरान ड्राइवर ने ही एसटी को बदनाम करने का प्रयास किया होने का खुलासा हुआ। इस पर उच्च अधिकारियों ने ड्राइवर को सस्पेंड कर दिया।

टीसी से किया था झगड़ा

एक अन्य मामले में वलसाड एसटी डेपो में ड्यूटी पर कार्यरत ड्राइवर आरडी आहिरे ने 5 नवम्बर 2020 के रोज वलसाड कंट्रोल रूम में टीसी के साथ झगड़ा किया था। इसके अलावा उच्च अधिकारियों से भी गाली-गलौज की थी। जांच के दौरान रिपोर्ट में ड्राइवर आईडी आहिर को दोषी पाया गया। उन्हें 1 मार्च के रोज तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें