गुजरातः मुख्य जिला चिकित्सा अधिकारी डॉ. संध्या जोशी ने वैक्सीन के बारे में क्या कहा, जानें

वैक्सीन अवश्य लगवाना चाहिए

वैक्सीन कोरोना के खिलाफ एक सुरक्षित और कारगर उपाय, अवश्य लगवाना चाहिए

दाहोद जायड्स  मेडिकल कॉलेज और अस्पताल के प्रभारी मुख्य जिला चिकित्सा अधिकारी डॉ. संध्या जोशी का कहना है कि टीका कोरोना के खिलाफ सबसे सुरक्षित उपाय है और नागरिकों को यह टीका तुरंत लगवाना चाहिए। इसके अलावा  कोरोना की सावधानियों और रेमडेसीविर इंजेक्शन के बारे में झूठी अफवाहों का खंडन भी किया। 
उन्होंने कहा कि "मैं आपको आज कुछ महत्वपूर्ण बताना चाहता हूं।  मैंने स्वयं वैक्सीन की दोनों खुराक ली है और दोनों खुराक लेने के बाद मुझे कोई दुष्प्रभाव नहीं हुआ है। वैक्सीन की दोनों खुराक पूरी तरह से सुरक्षित हैं। यहां पूरे स्टाफ के साथ-साथ मेरे साथी डॉक्टरों को भी टीका लगाया गया है। अभी तक किसी को भी कोई तकलीफ नही हुआ है। 
मैं पूरे समाज के नागरिकों से विनम्रतापूर्वक अपील करना चाहूंगा कि आप लोगों को टीका लगवाना चाहिए। टीका बहुत सुरक्षित है। वैक्सीन कोरोना के खिलाफ सबसे सुरक्षित और कारगर उपाय है। दूसरी महत्वपूर्ण बिंदु यह है कि वैक्सीन के बारे में कई अफवाहें हैं। इस पर ध्यान न दें। ये सभी अफवाहें झूठी हैं। वैक्सीन पास के सरकारी टीकाकरण केंद्रों, शहरी स्वास्थ्य केंद्रों और निजी अस्पतालों में भी उपलब्ध है। तो जिस किसी की भी बारी हो उसे तुरंत वैक्सीन लगवा लेनी चाहिए।
तीसरी महत्वपूर्ण बात यह है कि बिना कारण घर नहीं छोड़ना चाहिए। घर पर रहें - सुरक्षित रहें। सरकारी दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करें। मास्क को व्यवस्थित रुप से पहनें। बार-बार हैंड सैनिटाइजर और सामाजिक दूरी के नियम का पालन करें। अनावश्यक रूप से घर से बाहर न निकलें। भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचें और खुद भी भीड़ न लगाएँ।
डेमडेसीवीर इंजेक्शन के बारे में कई अफवाहें चल रही हैं। इसके बारे में सही तथ्यों को जानना जरूरी है। रेमडेसीवीर  इंजेक्शन बिना सरकारी डॉक्टर या चिकित्सक के पर्चे के नहीं लिया जाना चाहिए। चिकित्सक रोगी की जांच करेंगे। एसपीओटू इसकी जांच करेंगे, श्वसन और साथ ही एचआरसीटी स्कोर आदि जैसी रिपोर्टों को देखने के बाद,  चिकित्सक आरटीपीआर पॉजिटिव रोगियों को रेमडेसीवीर लिखता है, तभी यह इंजेक्शन लेना चाहिए। यह इंजेक्शन बहुत उपयोगी है लेकिन इसका उपयोग केवल डॉक्टर की सलाह पर किया जाना चाहिए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें