गुजरात : स्वास्थ्य मंत्री ऋषिकेशभाई पटेल ने किया अहमदाबाद सिविल अस्पताल का दौरा

स्वास्थ्य मंत्री ने अहमदाबाद सिविल अस्पताल का दौरा किया

स्वास्थ्य मंत्री का पदभार संभालने के बाद सिविल अस्पताल के डॉक्टरों से स्वास्थ्य संबंधी चर्चा की

23 सितंबर से प्रदेश में "आप के द्वार आयुष्मान" मेगा ड्राइव की घोषणा
नवनियुक्त स्वास्थ्य मंत्री  हृषिकेशभाई पटेल ने अपने कार्यकाल के दूसरे दिन अहमदाबाद सिविल अस्पताल का दौरा किया। मंत्री को अहमदाबाद सिविल मेडिसिटी में स्थित 1200 वेड महिला एवं बालरोग अस्पताल की मुलाकात लेकर चिकित्सकों एवं अस्पताल प्रशास के साथ स्वास्थ्य विषयक चर्चा की थी। मंत्री ने सिविल मेडिसीटी के समग्र प्रबंधन, उपलब्ध सुविधाओं, अस्पताल की जरूरतों और आगामी योजना के बारे में चर्चा की।
इस अवसर पर मीडिया से बातचीत में एक महत्वपूर्ण घोषणा करते हुए मंत्री ने कहा कि राज्य में 23 सितंबर से "आप के द्वार आयुष्मान" मेगा ड्राइव का आयोजन किया गया है। यह अभियान राज्य के 80 लाख परिवारों को कवर करेगा और PMJAY-मां कार्ड प्राप्त करने से लाभान्वित होगा।
इस अभियान के तहत ग्राम स्तर पर पीएचसी, सीएचसी, सरकारी और निजी अस्पतालों, सभी वर्ग के सामान्य, गरीब लोगों को इस कार्ड का लाभ दिया जाएगा। मंत्री ने राज्य के लोगों से तीन महीने के अभियान का लाभ उठाने की अपील की।
स्वास्थ्य मंत्री ने आगे कहा कि एशिया का सबसे बड़ा सिविल अस्पताल कोरोना काल में प्रदेश और देश के अन्य अस्पतालों के लिए मॉडल बना। सिविल मेडिसिटी में 1,200 बिस्तरों वाले अस्पताल में की गई स्वास्थ्य और रोगी उन्मुख पहल को राज्य के अन्य अस्पतालों ने भी स्वीकार किया। उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में सिविल अस्पताल द्वारा सबसे अच्छी तरह से व्यवस्था की गई थी। आगामी दिनों में कोरोना की संभावित तीसरी लहर में भी मरीज को उत्तम उपचार मिलते रहे इसके लिए  राज्य सरकार ने सभी स्वास्थ्य सेवाओं की व्यवस्था की थी जैसे कि दवा की मात्रा, चिकित्सा उपकरण, ऑक्सीजन प्लांट, वेंटिलेटर,जैसे स्वास्थ्य विषयक व्यवस्था की है। उन्होंने कहा कि सिविल अस्पताल के पुराने भवन को अपग्रेड कर आधुनिक बनाने के प्रयास जल्द ही पूरे कर लिए जाएंगे। राज्य सरकार ने 3,000 नर्सिंग स्टाफ की भर्ती की है। उन्होंने यह भी कहा कि डॉक्टरों को बांड के साथ स्थायी नियुक्ति देकर स्वास्थ्य कर्मियों की संख्या बढ़ाई गई है। राज्य के डॉक्टरों, चिकित्सा और पैरामेडिकल स्टाफ के संयुक्त प्रयासों के परिणामस्वरूप, गुजरात अन्य राज्यों की तुलना में कोरोना पर नियंत्रण पाने में सफल रहा है। आज राज्य में कोरोना के कुछ ही मामले हैं।
राज्य में भले ही कोरोना की स्थिति नियंत्रण में है, लेकिन एहतियात के तौर पर आज भी राज्य में आईसीएमआर की गाइडलाइन से सात गुना ज्यादा कोरोना टेस्टिंग हो रही है और राज्य में प्रति दिन 75 हजार एंटीजन परीक्षण किए जा रहे है।
मंत्री ने सिविल अस्पताल के सभी विभागों के प्रमुखों से बातचीत कर उनकी जरूरतों के बारे में जानकारी ली। मंत्री ने अस्पताल को स्वास्थ्य संबंधी सभी जरूरतों और सुविधाओं का शीघ्र निस्तारण करने का आश्वासन दिया।  सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सिविल अस्पताल प्रणाली के साथ काम करना जारी रखेगी कि सिविल अस्पताल स्वास्थ्य क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ हासिल करे।
बैठक में स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्रीमती निमिशाबेन सुथार, स्वास्थ्य आयुक्त  जयप्रकाश शिवहरे, स्वास्थ्य विभाग के मुख्य निजी अधिकारी  अजय प्रकाश, सिविल अस्पताल के अधीक्षक डॉ. सिविल अस्पताल के समस्त विभागाध्यक्ष राकेश जोशी एवं स्टाफ मित्र उपस्थित थे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें