गुजरात : पद मिलते ही काम पर लगे सबसे युवा राज्यमंत्री हर्ष सांघवी

रविवार को गृह विभाग के कामकाज का जायजा लेने पहुंचे हर्ष सांघवी

दो दिन पहले ही गुजरात की सत्ता नए लोगों के हाथों में आई है। ऐसे में भाजपा के सबसे युवा गृह राज्य मंत्री हर्ष सांघवी ने कार्यभार संभालते ही काम पर लग गये है। कार्यभार मिलते ही रविवार को हर्ष गृह विभाग के कामकाज का जायजा लेने पहुंचे। गृह राज्य मंत्री हर्ष सांघवी के इस दौरे के दौरान गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव कुमार गुप्ता और पुलिस प्रमुख आशीष भाटिया भी मौजूद थे।
गौरतलब है कि हर्ष सांघवी ने गृह मंत्री को स्पष्ट संकेत दिया है कि कोई भी अधिकारी अपना परिचय देने में इतना समय बर्बाद न करे। इतना ही नहीं, उन्होंने पदभार ग्रहण करते हुए कहा कि वह गुजरात के लोगों से अनुरोध करना चाहेंगे कि यह कोई उत्सव का समय नहीं है। यह एक जिम्मेदारी है और इसे अच्छी तरह से निभाने के लिए हर्ष सांघवी ने सभी से अपील की है कि वो किसी भी तरह की किताब या उपहार के साथ मिलने जाने के बजाय तकनीकी माध्यम से बधाई भेज सकते हैं। इस प्रकार, गृह राज्य मंत्री ने भी खुशमत खोरो को संदेश दिया।
उल्लेखनीय है कि गृह राज्य मंत्री का पदभार संभालने के साथ ही उन्होंने पूर्व गृह राज्य मंत्री प्रदीपसिंह का आशीर्वाद भी लिया था और उनके साथ डेढ़ घंटे से अधिक समय तक बैठक की थी और कैसे काम करना है, इस पर मार्गदर्शन लिया। गुजरात के गृह राज्य मंत्री के रूप में, सूरत की माजुरा विधानसभा के विधायक हर्ष सांघवी वर्तमान सरकार में सबसे कम उम्र के मंत्री बन गए हैं। वह गुजरात भाजपा के इतिहास में सबसे कम उम्र के राज्य मंत्री भी हैं। हर्ष संघवी ने 36 साल की उम्र में गुजरात बीजेपी में एक अलग रिकॉर्ड बनाया है। हर्ष सांघवी के पिता कारोबार से जुड़े हैं। पिछले दो विधानसभा चुनाव में हर्ष ने भारी जीत हासिल की और 36 साल की उम्र में सबसे कम उम्र के गृह राज्य मंत्री बने।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें