गुजरात : वीरमगाम में मिसेस युनाइटेड नेशन्स नीपा सिंह द्वारा रोग नियंत्रण पर मार्गदर्शन दिया गया

मिसेस युनाइटेड नेशन्स नीपा सिंह ने रोग नियंत्रण पर मार्गदर्शन दिया

मच्छरों के प्रजनन के मैदानों को नष्ट करने और मलेरिया, डेंगू, चिकनपॉक्स सहित मच्छरों से होने वाली बीमारियों को रोकने के उपाय बताए गए।

   वीरमगाम में मिसेस युनाइटेड नेशन्स नीपा सिंह ने गर्भवती बहनों, आशा बहनों सहित लोगों को संक्रमित रोग नियंत्रण पर आवश्यक मार्गदर्शन दिया। नीपा सिंह ने लोगों को मच्छरों के प्रजनन स्थल को नष्ट करने और मलेरिया, डेंगू, चिकनपॉक्स सहित मच्छर जनित बीमारियों से बचाव के उपाय बताए।
तालुका हेल्थ ऑफिस विरमगाम में आयोजित कार्यक्रम में मिसेस युनाइटेड नेशन्स (2017) नीपा सिंह, नीलकंठ वासुकिया, गौरीबेन मकवाना और स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी उपस्थित थे। उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय संक्रमित रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत 2022 तक गुजरात एवं 2030 तक संपूर्ण भारत मलेरयिा मुक्त बने इस उद्देश्य के साथ  अहमदाबाद जिला विकास अधिकारी डॉ. अनिल धमेलिया, मुख्य जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. शैलेश परमार और अहमदाबाद जिला मलेरिया अधिकारी नरेंद्र सिंह राठौड़,तालुका स्वास्थ्य अधिकारी डॉ विरल वाघेला के मार्गदर्शन के अनुसार, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा विरमगाम और अहमदाबाद जिले में वाहक जनित (संक्र‌मित) रोग नियंत्रण अभियान चलाया जा रहा है।
यदि उल्टी, जी मिचलाना, सिर दर्द, शरीर में झुनझुनी, ठंड लगना और ठंड लगने के साथ बुखार जैसे लक्षण हों तो आपको नजदीकी सरकारी अस्पताल में जाकर नि:शुल्क रक्त जांच करानी चाहिए। मलेरिया से बचाव के लिए खुले पानी के टंकी को  ढक्कन से ढक कर रखें। पानी की टंकी, फूलदान, कूलर, फ्रिज की ट्रे को हफ्ते में एक बार जरूर साफ करना चाहिए। घर के आसपास पानी न आने दें।कोई भी बुखार मलेरिया हो सकता है। मलेरिया मच्छरों से फैलता है, इसलिए यदि आप मच्छरों को फैलने से रोकते हैं तो मलेरिया से बचा जा सकता है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें