गुजरात : देश में पहली बार ड्रोन के माध्यम से खेत में किया जाएगा दवाइयों का छींटकाव

भावनगर से शुरू हुआ अनोखा प्रयोग, हर महीने युवको की हो सकती है हजारों की कमाई

गुजरात के भावनगर में पहली बार ही खेतों में दवा का छींटकाव करने के लिए प्रयास शुरू किए गए है। ड्रोन के माध्यम से किसानों के समय, शक्ति और पैसों की बचत होगी। इसके अलावा कई दवाइयों को छींटकाव करने पर होने वाली किसानों की आकस्मिक मौत में भी काफी कटौती आएगी। ड्रोन का इस्तेमाल कर दवाओं का छींटकाव करने के लिए युवकों को तालिम डी जा रही है। 
किसान भारी कीमतों को देने के बाद भी जो बीज खरीदता है उसमें कीड़ों के आने के कारण उसकी फसल बिगड़ जाती थी। पर इसके बाद दवाओं के इस्तेमाल से यह समस्या कम हो गई। ऐसे में इस नए प्रयोग से किसानों को और भी राहत मिलेगी। भावनगर में इसके लिए केंद्रीयमंत्री मनसूख़ मंडविया के सामने इस प्रोजेक्ट का निदर्शन किया था। ड्रोन को एक ह स्थल से 5 किलोमीटर तक उड़ा कर दवा का छींटकाव किया जा सकता है। 
भावनगर जिले में पालिताणा और तलाजा तहसील के कुछ गांवों में ड्रोन के माध्यम से दवा का छींटकाव करने का प्रयोग शुरू किया गया था। सरकार और कंपनी चाहती है की यदि हर गाँव में युवक 5 लाख की इमत का यह ड्रोन खरीद ले तो वह आसानी से महीने का 30 से 40 हजार कमा सकते है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें