गुजरात : गोधरा के मेसरी नदी पर बना 30 साल पुराना ब्रिज बना मौत का कुआं

(Photo Credit : gujarati.news18.com)

30 साल पहले पुराने ब्रिज के ध्वस्त होने के बाद बनाया गया था निर्माण, भारी वाहनों के जाने पर हिलने लगता है ब्रिज

गुजरात के गोधरा शहर के मेसरी नदी पर बना पुल शहरवासियों के लिए मानो मौत का कुआं बन चुका है। 1990 के दशक में आए भयंकर पुल के कारण नदी पर बना पुराना ब्रिज पूरी तरह से ध्वस्त हो गया था। ऐसे में दूसरी बार इस तरह की परिस्थिति ना हो इसलिए आर एंड बी द्वारा एक ब्रिज का निर्माण किया गया था। इस बात को भी आज 30 साल से भी अधिक समय हो चुका है। हर दिन ब्रिज पर से बड़ी-बड़ी गाडियाँ पार होती है।
ब्रिज पर कई स्थानों पर गड्ढे भी हो गए है और सालिए भी बाहर दिखाई दे रहे है। जब भी कोई भारी गाड़ी पूरा ब्रिज हिल जाता है। ऐसे में हर कोई अपने मन में भय रखकर ही ब्रिज पर से गाड़ी लेकर जाता है। स्थानीय लोगों में भी चर्चा है की ब्रिज कभी भी नीचे गिर सकता है। ऐसे में नगरपालिका के कार्यक्षेत्र में आने वाले इस पुल का अधिकारियों द्वारा कब से मरम्मत करवाई जाती है यह सभी के बीच एक चर्चा का विषय है।
बता दे की अभी फिलहाल गोधरा नगर के कई मुख्य मार्ग भी काफी बिगड़ी हुई हालत में है। राज्य सरकार द्वारा जो हेल्पलाइन नंबर दी गई थी, उसकी डेडलाइन भी आज यानी की 10 अक्टूबर को खतम हो रही है। पर अभी भी अधिकतर सड़क वैसी ही हालत में है। जैसे शिकायत कर्ण के पहले थे। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें