फीफा विश्व कप 2022 : इंग्लैंड के सामने हुए मुकाबले में ईरानी टीम ने नहीं गाया राष्ट्रगान, सरकार के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन को दिया समर्थन

स्टेडियम में मैच से पहले जब ईरान का राष्ट्रगान बजा तो सभी खिलाड़ी चुप खड़े रहे

फुटबॉल जगत का सबसे बड़ा खेल महोत्सव यानी फीफा विश्व कप 2022 रविवार से खेला जाना शुरू हो गया है। अरब जगत में आयोजित होने वाला पहला विश्व कप अपने आगाज से पहले ही जमकर विवादों में रहा था और अब ये विवाद टूर्नामेंट शुरू होने के बाद पीछा छोड़ने का नाम नहीं ले रहे हैं। टूर्नामेंट से ठीक पहले अल्कोहलिक बियर प्रतिबन्ध के बाद डेनमार्क के एक रिपोर्टर को कुछ लोगों ने वीडियो बनाने से रोक दिया था। इस मामले में कतर ने बाद में माफी भी मांगी थी। अब इंग्लैंड और ईरान के बीच हुआ मुकाबला,जिसे इंग्लैंड ने ३-० से जीत लिया था,भी विवादों में आ गया है। दरअसल इस मैच से पहले ईरान के खिलाड़ियों ने इंग्लैंड के खिलाफ मैच से पहले अपना राष्ट्रगान गाने से मना कर दिया। 

ईरान की टीम ने किया सरकार का विरोध


आपको बता दें कि ईरान की पूरी टीम ने देश की सरकार के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन का समर्थन करने के लिए यह कदम उठाया है। ईरानी फुटबाल टीम ने अल रेयान में इंग्लैंड के विरुद्ध खेले गए फीफा विश्व कप मैच से ईरान में सरकार के विरुद्ध चल रहे प्रदर्शन का समर्थन करते हुए राष्ट्रगान ना गाने का फैसला किया। खलीफा स्टेडियम में मैच से पहले जब ईरान का राष्ट्रगान बजा तो सभी खिलाड़ी चुप खड़े रहे। खिलाड़ी जब मैच के लिए मैदान पर उतरे तो सभी गंभीर मुद्रा में थे और काफी भावुक थे। मैच से पहले ईरान फुटबॉल टीम के कप्तान अलीरेजा जहानबख्श ने कहा था कि टीम के सभी खिलाड़ी मिलकर तय करेंगे कि वह सरकार के खिलाफ प्रदर्शन के समर्थन में राष्ट्रगान गाने से मना करेंगे या नहीं। 

क्यों है ये विरोध


ईरान की टीम जिस मामले का विरोध कर रही है उस मामले की बात करें तो 16 सितंबर को ईरान में एक 22 साल की लड़की, जिसका नाम महसा अमिनी था, की मौत पुलिस हिरासत में हो गई थी। बता दें कि ईरान के ड्रेसकोड में हिजाब अनिवार्य है। ईरान के ड्रेस कोड के उल्लंघन के आरोप में कुर्द मूल की 22 वर्षीय ईरानी अमिनी को तेहरान में गिरफ्तार किया गया था। इसके तीन दिन बाद उसकी मौत हो गई थी। इसके बाद से दो महीने में पूरे ईरान में सरकार का विरोध हो रहा है। अब फुटबॉल के इस महाकुंभ में ईरान के कुछ खिलाड़ियों ने सरकार के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन के समर्थन में राष्ट्रगान नहीं गाने और जीत के बाद जश्न नहीं मनाने का फैसला किया है। 

ईरान को मिल रही हैं मिली-जुली प्रतिक्रिया


आपको बता दें कि ईरान के ऐसा करने के बाद दुनिया भर में इस घटना की चर्चा हो रही है। सोशल मीडिया पर ईरान की टीम को मिलीजुली प्रतिक्रिया मिल रही हैं। कुछ लोग ईरान की इस हरकत को बहादुरी भरा और सही माना तो कुछ लोगों ने ईरान की टीम की आलोचना की है। 

विश्व कप में महिला रिपोर्टर हुई लूट का शिकार


गौरतलब है कि फीफा विश्व कप 2022 में दो दिन के अंदर तीसरा बड़ा विवाद सामने आया है। डेनमार्क के एक रिपोर्टर को कुछ लोगों ने वीडियो बनाने से रोकने के बाद एक महिला रिपोर्टर लूट का शिकार हुई और पुलिस ने उसी रिपोर्टर से पूछा कि दोषी को क्या सजा दी जानी चाहिए। यह मामला भी रिपोर्टर के लिए हैरान करने वाला था। वहीं, एक महिला लूट का शिकार हो गई थी। अब टूर्नामेंट के दूसरे मैच में ही खिलाड़ियों का नाम विवादों से जुड़ गया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें