महामारी के दौरान इस कंपनी ने एक ही साल में दो बार बढ़ाई कर्मचारियों की सैलरी

(Photo Credit : businessinsider.in)

सितंबर से बढ़ेगी कंपनी के 80 प्रतिशत कर्मचारियों की पगार, टीसीएस के बाद साल में दो बार पगार बढ़ाने वाली दूसरी कंपनी बनी

देश की सबसे बड़ी टेक कंपनियों में से एक विप्रो ने एक ही साल में 2 बार अपने कर्मचारियों की सैलरी बढ़ाने का निर्णय लिया है। कंपनी के इस निर्णय का लाभ कंपनी के लगभग 80 प्रतिशत कर्मचारियों को इसका लाभ मिलेगा। बता दे की साल 2021 में यह दूसरी बार है जब विप्रो ने कर्मचारियों की पगार बढ़ाने का निर्णय लिया है। कंपनी की घोषणा के अनुसार यह सैलरी हाइक बैंड 3 तक के कर्मचारियों को मिलेगा। जो की 1 सितंबर से लागू होगा। 
विप्रो ने कहा की सी1 बैंड के कर्मचारियों का पगार जून से बढ़ाया गया है। जिसमें मैनेजर और उसके ऊपर से के कर्मचारी शामिल है। कंपनी के अनुसार इस बैंड के ऑफशोर कर्मचारियों के लिए एवरेज हाई सिंगाल डिजिट में इजाफा किया गया है। जब की ऑनसाइट कर्मचारियों के लिए यह मिड सिंगल डिजिट में है। इसके अलावा कंपनी ने अपने टॉप पर्फोर्मर को बढ़ी हुई सैलरी के अलावा रिवोर्ड्स भी दिये जाएगे। 
वित्तीय वर्ष 2021 के चौथे क्वार्टर के नतीजे बाहर निकलने पर विप्रो ने कहा की वह अपने कर्मचारियों को अपने साथ बनाए रखने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे। कंपनी ने बताया की वित्तीय वरह 2021 में कंपनी द्वारा 10 हजार फ्रेशर्स की नियुक्ति की गई है। एक साल में दो बार पगार बढ़ाने वाली विप्रो देश की दूसरी कंपनी बन गई है। इसके पहले टीसीएस ने भी वित्तीय वर्ष 2021 में दो बार अपने कर्मचारियों की सैलरी बढ़ाई थी। कंपनी ने मात्र 6 महीने के समय में ही अपने कर्मचारियों को 12-14 प्रतिशत का इजाफा दिया था। 
उल्लेखनीय है की फिलहाल आईटी इंडस्ट्रीज में कर्मचारियों का आर्टिशन रेट यानि की कंपनी छोडनेवाले कर्मचारियों की संख्या काफी ज्यादा है। बात करे विप्रो की तो इस साल कंपनी का आर्टिशन रेट 12.1 प्रतिशत था। जिसके चलते कंपनियाँ अधिक से अधिक कर्मचारियों को जाने से रोकने के लिए उन्हें अधिक पगार देकर रोक रही है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें