मेरी टिप्पणियों का गलत अर्थ ना निकालें - नीरज ने अपने बयान के बारे में दी स्पष्टता

(Photo Credit : IANS)

खेल हमें साथ रहना सिखाते हैं, मेरे बयानों का गलत मतलब निकाला गया - नीरज

टोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाले भाला फेंक एथलीट नीरज चोपड़ा ने इन दावों का खंडन किया है कि फाइनल राउंड के पहले थ्रो से पहले पाकिस्तान के अरशद नदीम उनके भाले के साथ छेड़छाड़ कर रहे थे। नीरज, जिन्होंने एक साक्षात्कार में कहा था कि उन्हें अपने पहले थ्रो से पहले नदीम से भाला लेना पड़ा था, उन्होंने कहा कि वह नहीं चाहते कि उनकी टिप्पणियों का इस्तेमाल भाला विवाद को बढ़ाने के तरीके के रूप में किया जाए।
नीरज ने कहा, "मैं सभी से अनुरोध करूंगा कि कृपया मुझे और मेरी टिप्पणियों को अपने निहित स्वार्थों और प्रचार के माध्यम के रूप में उपयोग ना करें। खेल हमें साथ रहना और एक होना सिखाते हैं। मेरी हाल की टिप्पणियों पर जनता की कुछ प्रतिक्रियाओं को देखकर मैं बेहद निराश हूं।" वीडियो में, 23 वर्षीय एथलीट ने समझाया कि कोई भी भाला फेंक एथलीट किसी के भाला का उपयोग कर सकता है और इसके लिए कोई विशेष नियम नहीं है।
वीडियो में नीरज ने कहा, "मैं एक साक्षात्कार में अपनी हालिया टिप्पणियों के बारे में स्पष्ट करना चाहता हूं जहां मैंने उल्लेख किया था कि पाकिस्तान का नदीम मेरे भाले का उपयोग कर रहा था। बहुत ही साधारण सी बात होने पर यह एक बड़े विवाद में तब्दील हो गया है।" उन्होंने कहा, "मुझे इस बात का दुख है कि लोग मेरे नाम का विवाद पैदा करने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं। मैं सभी से अनुरोध करता हूं कि इसमें शामिल ना हों। खेल हमें साथ रहना सिखाते हैं। सभी भाला फेंक एथलीट एक अच्छा बंधन साझा करते हैं, इसलिए मैं सभी से अनुरोध करता हूं कि ऐसा कुछ भी नहीं कहें जिससे मेरी भावनाओं को ठेस पहुंचे।"

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें