क्रिकेट : टी20 वर्ल्ड कप से ठीक पहले आईसीसी ने किये इन अहम नियमों में बदलाव, जानिए क्या है नए नियम

फेक फील्डिंग पर बल्लेबाज को अतिरिक्त रन और दो मिनट में बैटिंग को तैयार, जानिए खेल में बदल रहे हैं कौन-कौन से नियम

टी20 वर्ल्ड कप 2022 के शुरू होने में अब बस कुछ दिन ही बचे हैं। ऐसे में एक बड़े टूर्नामेंट से पहले इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल ने एक बड़ा फैसला लिया है। 1 अक्टूबर 2022 से क्रिकेट में कुछ नए नियम लागू होने जा रहे हैं। ऑस्ट्रेलिया में टी20 वर्ल्ड कप 2022 इन बदले हुए नियमों के साथ खेला जाएगा। सौरव गांगुली की अध्यक्षता वाली पुरुष क्रिकेट समिति की सिफारिशों के बाद नियमों में भी बदलाव किया गया है।

कैच आउट होने पर बल्लेबाजी करेगा ये खिलाड़ी


आईसीसी के नए नियमों के मुताबिक, किसी बल्लेंबाज के कैच आउट होने पर नया बल्लेबाज ही बल्लेबाजी करेगा। इससे पहले जब कोई बल्लेबाज कैच आउट होने के दौरान अगर अपने साथी खिलाड़ी को को पार कर जाता है तो इस स्थिति में नया बल्लेबाज नॉन-स्ट्राइक एंड पर आता है लेकिन अब से ऐसी स्थिति में भी यानी स्ट्राइक बदलने के बाद भी नया बल्लेबाज स्ट्राइक लेगा।

बॉल पॉलिशिंग प्रतिबंधित


कोरोना की वजह से ICC ने पिछले 2 साल से गेंद पर थूक या लार लगाने पर रोक लगा दी थी। अब इस नियम पर स्थायी रूप से रोक लगा दी गई है। यानी कोई भी गेंदबाज नए नियम तक गेंद पर थूक नहीं लगा पाएगा। गेंद को पॉलिश न करने का नियम 2020 में पेश किया गया था।

2 मिनट में होना होगा तैयार


आईसीसी के नए रूल के मुताबिक टी20 की तरह अब वनडे क्रिकेट में भी बल्लेबाज को पहली गेंद खेलने के लिए तैयार होना होगा। टी20 क्रिकेट में विकेट गिरने पर बल्लेबाज को 90 सेकेंड के अंदर पहली गेंद के लिए तैयार होना होता है। अब वनडे और टेस्ट में ये समय 2 मिनट होगा। मतलब अगर बल्लेबाज इतने समय में पहली गेंद खेलने को तैयार नहीं हुआ तो उसे आउट करार दिया जाएगा।

फील्डर के गलत मूवमेंट या फेक फील्डिंग पर सजा


यदि खिलाड़ी फील्डिंग करते समय जानबूझकर गलत हरकत करता है तो बल्लेबाज को 5 रन की पेनल्टी मिलेगी। पहले इस गेंद को डेड बॉल घोषित किया जाता था और बल्लेबाज को शॉर्ट माना जाता था।

एक बल्लेबाज गेंद को पिच से हिट कर सकता है


बल्लेबाज को पिच के अंदर रहकर ही शॉट खेलना होगा। मतलब अगर शॉट खेलते हुए बल्लेबाज का बैट या शरीर पिच से बाहर चला जाता है तो उसपर रन नहीं माना जाएगा। अंपायर उस गेंद को डेड बॉल देगा। अगर कोई गेंद बल्लेबाज को पिच के बाहर जाने को मजबूर करेगी तो वो नो बॉल करार दी जाएगी।

वनडे में भी लागू होगा स्लो-ओवर रेट का नियम


जनवरी 2022 से टी20 में नया नियम लागू है जिसमें एक तय समय में टीमों को ओवर खत्म करने होते हैं। ओवर लेट होने पर फील्डिंग टीम को एक अतिरिक्त फील्डर 30 गज के दायरे में लाना होता है। अब यही नियम वनडे क्रिकेट में भी लागू होगा। हालांकि ये नियम आईसीसी मेंस क्रिकेट वर्ल्ड कप सुपर लीग 2023 के बाद से लागू होगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें