पति के साथ रहने बच्चा चुराया, पुलिस ने 2 हजार सीसीटीवी कैमरों की जांच करी महिला को पकड़ा

(Photo Credit : youtube.com)

वजन करवाने के बहाने पुत्र को लेकर भागी महिला, पुलिस ने बनासकांठा से ढूंढ कर निकाला

सात दिन पहले गांधीनगर के सिविल अस्पताल से एक बालक के चोरी हो जाने की घटना सामने आई थी। जहां एक महिला नवजात बालक का वजन करवाने के बहाने उसे चुरा ले गई थी। जिसके चलते समग्र मामले में पुलिस ने जांच शूरु की थी और अंत में बालक को चुराकर जाने वाली इस महिला को पुलिस ने बनासकाँठा से पकड़ा था। जब महिला द्वारा बालक चुराने का कारण सामने आया तो खुद पुलिस भी चौंक गई। 
विस्तृत जानकारी के अनुसार, 1 हफ्ते पहले गांधीनगर के सिविल अस्पताल में से एक महिला बालक का वजन करवाना है ऐसा कहकर एक बालक को चुरा लिया था। महिला ने डिलीवरी के समय ही जान लिया की बालक की माता के साथ कोई नहीं है और इसी के चलते वह बालक के जन्म के बाद महिला के साथ ही उसके घर भी गई थी। तीसरे दिन महिला ने मौका देख कर बालक को लेकर गायब हो गई। 
बालक को लेकर भाग जाने वाली इस महिला की पहचान अस्मिता के तौर पर हुई है। महिला बालक को लेकर वतन चली गई थी, पर गांधीनगर पुलिस ने बच्चे को ढूँढने के लिए अलग-अलग 12 टीमें बनाई। इन सभी टीमों ने लगभग 2000 जीतने कैमरा फुटेज चेक किए और अंत में चोरी करने वाली महिला को बनासकाँठा से ढूंढ निकाला। बालक की चोरी करने वाले महिला से जब पूछताछ की गई तो पता चला की महिला और उसके पति जिग्नेश के संतान में तीन बेटियाँ थी। पति ने उसे बिना पुत्र संतान के घर में रखने से मना कर दिया। जिसके चलते उसने बालक की चोरी की थी। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें