ऑस्ट्रेलिया : आप की करते हैं डिओ का इस्तेमाल तो हो जाइये सावधान, बॉडी स्प्रे ने ली एक मासूम की जान

ऑस्ट्रेलिया में बॉडी स्प्रे से एक लड़की की मौत का मामला सामने आया है

आमतौर पर सभी घरों में डिओडोरेंट का इस्तेमाल किया जाता है। इसका इस्तेमाल इसलिए किया जाता है ताकि गर्मी में शरीर से ऐसी दुर्गंध को दूर किया जा सके। इन दिनों युवाओं में डियोड्रेंट यानी बॉडी स्प्रे काफी पॉपुलर है। गर्मी के मौसम में इसका यूज और बढ़ जाता है, लेकिन क्या आपने कभी ये सोचा है कि जिस बॉडी स्प्रे को आप इतना यूज करते हैं वो जानलेवा भी हो सकता है। यह बात सुनकर शायद आपको भरोसा न हो, लेकिन ऑस्ट्रेलिया में बॉडी स्प्रे से एक लड़की की मौत का मामला सामने आया है। एक लड़की अपने घर के फर्श पर मृत पाई गई थी, उसके हाथ में डिओडोरेंट की बोतल थी और माना जाता है कि सोते समय उसकी मृत्यु हो गई थी।
आपको बता दें कि यह रहस्यमयी मामला ऑस्ट्रेलिया के न्यू साउथ वेल्स का है। जहां अपने परिवार के साथ ब्रोकन हिल्स में रहने वाली एनी नाम की महिला की 16 वर्षीय लड़की ब्रुक रयान का शव घर के फर्श पर पड़ा मिला। फर्श पर एक डिओडोरेंट और एक तौलिया पाया गया। लड़की एक प्रतिभाशाली एथलीट थी और क्रॉमिंग नामक एक घातक गतिविधि के बाद एक एरोसोल को सूंघने के बाद एक संदिग्ध स्थिति में उसकी मृत्यु हो गई। माना जा रहा है कि उन्हें दिल का दौरा पड़ा था। ऐसा माना जा रहा है कि मौत एयरोसोल्स सूंघने के बाद हुए हार्ट अटैक से हुई थी। डॉक्टरों की मानें तो इसे 'क्रोमिंग' कहते हैं। वहीं ब्रुक की मां एनी का मानना है कि उसकी मौत की वजह सडेन स्निफिंग डेथ सिंड्रोम है। दरअसल ब्रुक एंग्जायटी से भी पीड़ित थी। हालांकि अभी ब्रुक की मेडिकल और जांच रिपोर्ट नहीं आई है। ऑस्ट्रेलिया की एक स्कूली शिक्षिका ने इससे पहले ऐसी स्थिति को रोकने के लिए डियोड्रेंट की बिक्री पर रोक लगाने की मांग की थी।
मृतक बच्ची की मां का मानना है कि अचानक सूंघने की बीमारी शुरू होने से उसकी बेटी की मौत हो गई, हालांकि अभी तक रिपोर्ट नहीं आई है। वहीं यूनिवर्सिटी ञफ रोचेस्टर मेडिकल सेंटर की मानें तो एयरोसोल स्प्रे या सॉल्वेंट में मौजूद केमिकल को अगर कोई बहुत देर तक सूंघता है तो उसे दिल का दौरा और दिल से जुड़ी कई अन्य दिक्कतें हो सकती हैं। इससे उस शख्स की जान भी जा सकती है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें