गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को एक और झटका, भिलोदा विधायक स्वर्गीय डॉ अनिल जोशीयारा के बेटे ने पकड़ा बीजेपी का साथ

इस चुनाव में आदिवासी सीटों पर कब्जा जमाने की कोशिश कर रही है

गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले अरावली में सियासत गरमा गई है। क्योंकि भिलोदा विधायक स्वर्गीय डॉ अनिल जोशीयारा के बेटे केवल जोशीयारा ने ही भाजपा का दमन थाम लिया है। औपचारिक रूप से जोशीयारा प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल के हाथों में बीजेपी का भगवा गमछा पहनकर भाजपा में शामिल हुए हैं। जोशीयारा के साथ ही बड़ी संख्या में कार्यकर्ता भी भाजपा में शामिल हुए।
आपको बता दें कि भाजपा में शामिल होने के बाद केवल जोशीयारा ने एक अहम बयान देते हुए कहा, 'मेरे पिता ने आदिवासी समुदाय से पैदा करके अपना कर्तव्य निभाया। मेरे पिता ने कैबिनेट मंत्री के रूप में भी काम किया। मेरे पिता को भिलोदा के लोगों का बहुत प्यार मिला है। मेरे पिता लोगों की सेवा करते हुए कोरोना से संक्रमित हुए। मेरे पिता के बीमार होने पर सीएम और श्री पाटिल ने मदद की। मैं अपने पिता के मार्ग पर चलूंगा।'
खास बात यह है कि बीजेपी इस चुनाव में आदिवासी सीटों पर कब्जा जमाने की कोशिश कर रही है। पहले खेड़ाब्रह्मा से कांग्रेस विधायक अश्विन कोतवाल भाजपा में शामिल हुए थे और अब केवल जोशीयारा भी भाजपा में शामिल हों गए। ऐसा लगता है कि भाजपा 2017 के विधानसभा चुनाव में अपेक्षित परिणाम हासिल करने में विफल रही है, इसलिए उत्तर गुजरात में पार्टी को मजबूत करने के लिए कांग्रेस के असंतुष्ट नेताओं को पार्टी में शामिल करने के भाजपा के प्रयास सफल हो रहे हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें