ड्राइव-थ्रू वैक्सीनेशन के बीच बुजुर्ग महिला को बैलगाड़ी में बैठे-बैठे ‌ही लगाया टीका!

(Photo Credit : zeenews.india.com)

गुजरात में कोरोना टीकाकरण की रफ्तार अपेक्षाकृत धीमी गति से चल रही है। प्रशासन पूर जोर प्रयास कर रहा है लेकिन स्थिति यह है कि वैक्सीन की पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध न होना और लोगों में टीके के प्रति जागरूकता में कमी के कारण अभियान आवश्यक गति प्राप्त नहीं कर पा रहा है। प्रशासन जगह-जगह टीकाकारण को आगे बढ़ाने के लिये हर स्तर पर प्रयास कर रहा है। नये-नये आइडिया खोजे जा रहे हैं। अहमदाबाद और भुज में ड्राइव-थ्रू वैक्सीनेशन भी चल रहा है जहां लोग अपने दुपहिया वाहन या कार में बैठे-बैठे ही वैक्सीन लगवा रहे हैं। 
इसी बीच एक सुकून वाली खबर प्रदेश के जेतपुर के मंडलीकपुर गांव से आई है। यहां पर एक बुजुर्ग महिला जो चलने में असमर्थ थी, को उनके परिजन बैलगाड़ी में बैठाकर ले आये। जब टीकाकरण की कर्मचारी को इस बात की जानकारी मिली तो वे खुद केंद्र से बाहर बैलगाड़ी के पास आईं और बुजुर्ग महिला को टीका लगाया। वहां मौजूद अन्य लोगों ने जहां बुजुर्ग महीला की वैक्सीन लेने के प्रति जागरूकता की तारीफ की, वहीं वैक्सीन देने वाली स्वास्थ्यकर्मियों की भी प्रशंसा की। बता दें कि गुजरात में साबरकांठा जिला पहला ऐसा जिला है जहां 90 प्रतिशत से अधिक नगारिकों ने टीका लगवा लिया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें