अहमदाबाद : होंडा में नौकरी दिलाने के नाम पर इस शख्स ने लोगों के साथ किया ठगी

(Photo Credit : sandesh.com)

पांच महीने हौंडा में नौकरी करने के बाद शुरू किया गोरखधंधा,पुलिस ने हिरासत में लिए

देश में बेरोजगार युवकों की भरमार है। ऐसे मे कुछ ठग ऐसे भोलेभाले लोगों की मजबूरी का फायदा उठाकर उसने साथ छेतरपिंडी करते है। ऐसा ही एक मामला अहमदाबाद के विट्टलपुर से सामने आया है जहां होंडा कंपनी का फर्जी आईकार्ड व लेटरपैड बनाकर नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी की कोशिश में एक व्यक्ति पकड़ा गया है। विट्ठलपुर पुलिस ने होंडा कंपनी के फर्जी नियुक्ति पत्र देकर पैसे की ठगी करने वाले एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है.
आपको बता दें कि मंडल तालुका का विट्ठलपुर ऑटो हब बनता जा रहा है। विट्ठलपुर में कई ऑटोमोबाइल कंपनियां आ चुकी हैं। इसके बाद मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड का प्लांट है। होंडा कंपनी के एक कर्मचारी ने विट्ठलपुर थाने में चिंतन प्रहलादभाई व्यास के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है कि वह होंडा कंपनी के नाम पर झूठा लेटरपैड, झूठा आईकार्ड और नियुक्ति पत्र बनाकर पैसे कमा रहा है।
जानकारी के अनुसार चिंतन प्रहलादभाई व्यास नाम का युवक पाटन के हंसापुर का रहने वाला है। उसे मार्च में होंडा कंपनी में नौकरी मिल गई पर केवल पांच महीने के बाद उसने वहां काम करना बंद कर दिया। इन दिनों में उसने कंपनी में अपनी सेटिंग्स बना ली और फिर नौकरी की चाह रखने वालों को फर्जी लेटरपैड और फर्जी आईकार्ड और होंडा कंपनी के नियुक्ति पत्र देकर 50 से 60 हजार तक लेकर उनके साथ ठगी करता था।
जानकारी के अनुसार चिंतन व्यास ने लगभग 17 नौकरी चाहने वालों के साथ करीब 13 लाख से 14 लाख रुपये की ठगी की है। होंडा कंपनी के एक कर्मचारी को पूरे मामले की जानकारी देते हुए विट्ठलपुर थाने में शिकायत दर्ज कराई। फिलहाल विट्ठलपुर पुलिस ने शिकायत दर्ज होने के कुछ घंटों के भीतर ही होंडा कंपनी का फर्जी लेटरपैड, फर्जी आईकार्ड और फर्जी नियुक्ति पत्र जब्त कर चिंतन व्यास को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस इस बात की भी जांच कर रही है कि चिंतन व्यास के साथ कितने अन्य लोग इस घोटाले में शामिल हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें