अफगानिस्तान संकट : 26 अगस्त को मोदी ने बुलाई सर्वदलीय बैठक

(Photo Credit : gujaratsamachar.com)

भारतीय राजनीति से लेकर व्यापार तक हर विभाग पर पड़ रही है अफगानिस्तान संकट की असर

अफगानिस्तान में तालिबान के संपूर्ण कब्जे के बाद से इसकी असर भारतीय राजनीति से लेकर व्यापार तक हर विभाग पर पड़ रही है। इस बीच विदेश मंत्री डॉ एस जयशंकर ने ट्वीट कर के जानकारी दी है कि अफगानिस्तान के सभी घटनाक्रम को ध्यान में रखते हुये पीएम मोदी ने विदेश मंत्रालय द्वारा सभी राजकीय दलों के नेताओं को इस बारे में संक्षिप्त जानकारी देने का आदेश दिया है।
सूत्रों के अनुसार विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अफगानिस्तान संकट को लेकर 26 अगस्त को सुबह 11 बजे एक सर्वदलीय बैठक बुलाई है। जिसे संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी इस बैठक को कोर्डिनेट करेंगे। दिल्ली में संयुक्त राष्ट्र हाई कमिशनर के कार्यालय के सामने अफगान शरणार्थीयों का विरोध प्रदर्शन लगातार जारी है। उनकी मांग है कि सभी अफगानियों को शरणार्थी का दर्जा दिया जाये, किसी तीसरे देश के लिए पुनर्वास विकल्प दिया जाए या भारत सरकार के पास से सुरक्षा मिले। अफगान शरणार्थीयों के इस प्रदर्शन के बारे बात करते हुये अफगान समुदाय के प्रमुख अहमद जिया गनी ने बताया कि कोई भी अफगान शरणार्थीयों वापिस नहीं जाना चाहता। 
अफगानिस्तान में फंसे हुये भारतीय नागरिक और अफगानों को निकालने के लिए भारत सरकार की और से हर संभव प्रयास चालू है। इस संकट में से बाहर आने के लिए हर दिन काबुल से दो फ्लाइट संचालित करने की अनुमति दी गई है। भारत ने भी आश्वासन दिया है की हिन्दू और शिख के साथ-साथ अफगानिस्तान में अपने बसे अपने सहयोगियों की सहायता की जाएगी, जिन्हें मदद की काफी जरूर है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें