नीरज चोपड़ा, सुमित अंतिल समेत 12 खिलाड़ी खेल रत्न से सम्मानित, 35 को मिला अर्जुन पुरस्कार

(Photo Credit : IANS)

न्यायमूर्ति मुकुंदकम शर्मा की अध्यक्षता वाली चयन समिति ने लिया था नाम पर फैसला

नई दिल्ली, 13 नवंबर (आईएएनएस)| ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा, पैरालंपिक स्वर्ण पदक विजेता सुमित अंतिल और महिला क्रिकेटर मिताली राज सहित नौ अन्य खिलाड़ियों को शनिवार को यहां राष्ट्रपति भवन में देश के सर्वोच्च खेल सम्मान मेजर ध्यानचंद खेल रत्न से सम्मानित किया गया। वहीं, 35 एथलीटों को अर्जुन पुरस्कार से नवाजा गया। ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाले चोपड़ा और पैरालंपिक हीरो को जोरदार तालियों के साथ राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, कई मंत्रियों और गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति में खेल रत्न पुरस्कार दिया गया।
इस वर्ष इन पुरस्कारों के लिए बड़ी संख्या में नाम दिए गए थे, जिन पर इस महीने की शुरुआत में (सेवानिवृत्त) न्यायमूर्ति मुकुंदकम शर्मा की अध्यक्षता वाली चयन समिति ने फैसला लिया। खेल रत्न बारह खिलाड़ियों को मिला जिसमें, नीरज (एथलेटिक्स), रवि दहिया (कुश्ती), लवलीना बोरगोहेन (मुक्केबाजी), पीआर श्रीजेश (हॉकी), अवनी लेखारा (पैरा-शूटिंग), एंटील (पैरा-एथलेटिक्स), प्रमोद भगत ( पैरा-बैडमिंटन), कृष्णा नागर (पैरा-बैडमिंटन), मनीष नरवाल (पैरा-शूटिंग), मिताली राज (क्रिकेट), सुनील छेत्री (फुटबॉल), और मनप्रीत सिंह (हॉकी) शामिल है। 
(Photo Credit : IANS)
इस बीच, टोक्यो 2020 पैरालंपिक स्वर्ण पदक विजेता कृष्णा नागर पुरस्कार समारोह में शामिल नहीं हुए। क्योंकि ऐसी बातें सामने आ रही थीं कि उनकी मां का शुक्रवार को निधन हो गया और इसलिए वह इस समारोह में नहीं पहुंच सके। इस समारोह में टोक्यो 2020 ओलंपिक में 41 साल बाद भारत को ऐतिहासिक कांस्य पदक दिलाने वाली पुरुष हॉकी टीम के सभी सदस्यों को श्रीजेश और मनप्रीत को छोड़कर अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया है, ये दोनों पहले ही इसे प्राप्त कर चुके हैं।
अर्जुन पुरस्कार लेने वाले एथलीटों में अरपिंदर सिंह, सिमरनजीत कौर, शिखर धवन, भवानी देवी, मोनिका देवी, वंदना कटारिया, संदीप नरवाल, हिमानी उत्तम परब, अभिषेक वर्मा, अंकिता रैना, दीपक पुनिया, दिलप्रीत सिंह, हरमन प्रीत सिंह, रूपिंदर पाल सिंह, सुरेंद्र कुमार, अमित रोहिदास, बीरेंद्र लकड़ा, सुमित, नीलकांत शर्मा, हार्दिक सिंह, विवेक सागर प्रसाद, गुरजंत सिंह, मनदीप सिंह, शमशेर सिंह, ललित कुमार उपाध्याय, वरुण कुमार, सिमरनजीत सिंह, योगेश कथूनिया, निषाद कुमार, प्रवीण कुमार, सुहास यतिराज, सिंहराज अधाना, भावना पटेल, हरविंदर सिंह और शरद कुमार शामिल हैं। 
(Photo Credit : IANS)
इस अवसर पर लाइफ टाइम श्रेणी के लिए द्रोणाचार्य पुरस्कार भी प्रदान किया गया। इसे कोचों में टीपी औसेफ (एथलेटिक्स), सरकार तलवार (क्रिकेट), सरपाल सिंह (हॉकी), आशान कुमार (कबड्डी) और तपन कुमार पाणिग्रही (तैराकी) को दिया गया। द्रोणाचार्य नियमित श्रेणी में राधाकृष्णन नायर पी (एथलेटिक्स), संध्या गुरुंग (मुक्केबाजी), प्रीतम सिवाच (हॉकी), जय प्रकाश नौटियाल (पैरा-शूटिंग) और सुब्रमण्यम रमन (टेबल टेनिस) को सम्मानित किया गया। लाइफटाइम अचीवमेंट के लिए ध्यानचंद पुरस्कार एथलीट लेखा केसी, शतरंज ग्रैंडमास्टर अभिजीत कुंटे, दविंदर सिंह गरचा (हॉकी), विकास कुमार (कबड्डी) और सज्जन सिंह (कुश्ती) को दिया गया। पंजाब विश्वविद्यालय (चंडीगढ़) को 2021 के लिए मौलाना अबुल कलाम आजाद (एमएएमए) ट्रॉफी मिली। भारत ने टोक्यो ओलंपिक में सात पदक जीतकर इतिहास रच दिया था और टोक्यो पैरालिंपिक में, भारतीय एथलीटों ने 19 पदकों के साथ शानदार प्रदर्शन किया, जिसमें पांच स्वर्ण, आठ रजत और छह कांस्य पदक शामिल थे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें