महिला क्रिकेट : भारत ने किया इंग्लैंड का क्लीन स्वीप, दीप्ति का मांकडिंग बना चर्चा का विषय

महिला क्रिकेट : भारत ने किया इंग्लैंड का क्लीन स्वीप, दीप्ति का मांकडिंग बना चर्चा का विषय

भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने रचा इतिहास, उसी की सरजमीं पर २३ साल बाद जीती द्विपक्षीय सीरीज, दीप्ति द्वारा मांकडिंग पर विभिन्न खिलाडियों की अलग अलग राय, झूलन गोस्वामी ने कहा अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा

कल भारत और इंग्लैंड महिला क्रिकेट टीम के बीच खेले गए तीसरे और आखिरी वनडे मुकाबले में भारतीय महिला टीम ने तीसरे वनडे मैच में इंग्लैंड को 16 रनों से मात देकर सीरीज पर 3-0 से कब्जा कर लिया। इस जीत के साथ भारतीय महिला टीम ने इतिहास रच दिया। इस सीरीज जीत के साथ भारतीय महिला टीम ने 23 साल बाद इंग्लैंड की धरती पर कोई द्विपक्षीय सीरीज जीतने में सफलता हासिल की। वहीं क्लीन स्वीप करने का ये पहला मौका है।


आपको बता दें कि इस मैच में जीत के अलावा दो बातें ऐसी भी रही जो बहुत खास थी। पहली तो इस मैच के साथ भारत और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की सबसे सफल महिला गेंदबाज झूलन गोस्वामी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया। अपने लंबे करियर में झूलन सबसे अधिक विकेट लेने वाली गेंदबाज है। अपने अंतिम मुकाबले में उन्होंने दो अहम विकेट लिए। इस मैच की दूसरी खास बात जो रही वो रही दीप्ति शर्मा का अंग्रेजी बल्लेबाज को मांकडिंग आउट करना।  हुआ ऐसा कि दीप्ति शर्मा ने इंग्लिश बल्लेबाज चार्ली डीन को मांकडिंग के जरिए पवेलियन भेजा था। इसके बाद से ही दीप्ति शर्मा सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रही हैं। क्रिकेट फैंस तो लगातार ट्वीट कर ही रहे हैं, इसके साथ ही क्रिकेटर्स भी इस तरह के रन आउट पर अपनी राय साझा कर रहे हैं।

जानिए क्या हुआ था?


घटना की बात करें तो मैच की दूसरी पारी में जब इंग्लैंड बल्लेबाजी कर रही थी और जीत से मात्र 17 रन दूर थी तब 44वें ओवर में जैसे ही दीप्ति चौथी गेंद डालने के लिए स्टंप्स के सामने पहुंची, नॉन स्ट्राइक चार्ली डीन अपनी क्रीज से काफी आगे निकल चुकी है। दीप्ति ने तुरंत अपने रन-अप पर रुककर स्टंप्स बिखेर दिए और डीन को रन आउट कर दिया। इस पूरे मैच में अंग्रेजी बल्लेबाज अधिकांश समय गेंदबाजी के पहले ही क्रीज़ से आगे निकली रही। इसी विकेट के साथ ही भारत ने मैच भी जीत लिया और सीरीज भी 3-0 से अपने नाम कर ली। अब इस घटना के बाद जहां अधिकांश अंग्रेजी खिलाड़ी 'स्प्रिट ऑफ स्पोर्ट' की दुहाई देते नजर आए। वहीं बाकी खिलाड़ी इसे आईसीसी के नियमों के अनुसार सही बताया।

जानिए क्या है अन्य खिलाड़ियों की राय


बता दें कि क्रिकेट में पहले भी कई बार मांकडिंग के जरिए खिलाड़ी आउट हुए हैं। आईसीसी इस नियम को वैद्य मानती है और अपने नए नियमों में इसको भी रनआउट के स्थान दिया है पर इसके बावजूद मांकडिंग को खेल भावना के विपरीत माना जा रहा है। इस पर पहले भी विवाद हुए हैं और इस बार भी बहस जारी है। इस बारे में इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड ने ट्वीट किया, 'मुझे मांकडिंग को लेकर बहस वास्तव में दिलचस्प लगती है। दोनों पक्षों में कई तरह के विचार हैं। मेरा निजी तौर पर मानना है कि मैं इस तरह से मैच जीतना पसंद नहीं करूंगा और मैं इस तरह की अलग सोच रख कर खुश हूं।'
इसके जवाब में भारत के पूर्व विस्फोटक ओपनर वीरेन्द्र सहवाग ने क्रिकेट में मांकडिंग को लीगल करार देने वाले नियम की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा है, 'इतने अधिक अंग्रेजों को हारा हुआ देखना मजेदार है।' साथ ही उन्होंने एक तस्वीर साझा की है जिसमें इंग्लैंड के झंडा बना है और लिखा है, क्रिकेट बनाए और नियम भूल गए।
इसके अलावा इंग्लैंड के सैम बिलिंग्स ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, 'निश्चित रूप से कोई ऐसा व्यक्ति नहीं होगा जिसने यह खेल खेला हो और उसे यह स्वीकार्य हो। यह क्रिकेट का खेल नहीं है।' हालांकि इंग्लैंड के ही अन्य खिलाड़ी एलेक्स हेल्ड ने इस रन आउट के पक्ष में ट्वीट  करते हुए लिखा, 'नॉन स्ट्राइकर पर खड़े बल्लेबाज के लिए जब तक गेंद रिलीज न हो जाए तब तक पिच पर खड़े रहना कोई ज्यादा मुश्किल काम नहीं है।'

अश्विन ने साझा किया अपना अनुभव


गौरतलब है कि अश्विन ऐसा कारनामा आईपीएल में कर चुके है। उन्होंने इंग्लैंड के ही जोश बटलर को इसी तरह से रनआउट किया था। अब इस घटना के बाद लोग दीप्ति शर्मा को लेडी अश्विन बोल रहे है। भारत के दिग्गज ऑफ स्पिनर आर अश्विन ने ट्वीट किया, 'आखिर तुम क्यों ट्रेंड हो रहे हो अश्विन? आज की रात तो एक दूसरी गेंदबाजी हीरो के बारे में है।'


गेंदबाजी के सहारे जीता मैच, दीप्ति शर्मा, मंदाना और रेणुका ने इंग्लैंड को पिलाया पानी


मैच की बात करें तो टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम ने सिर्फ 169 रन बना सकी। भारत के लिए दीप्ति शर्मा ने सबसे अधिक 68 रन और स्मृति मंदाना ने 50 रनों की पारी खेली। छोटे लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया ने अपनी शानदार गेंदबाजी से इंग्लैंड का बुरा हाल कर लिया और 44वें दीप्ति शर्मा ने अंग्रेजों को उन्हीं के घर में क्रिकेट का नियम याद दिलाया। भारत के लिए रेणुका सिंह ने सबसे घातक गेंदबाजी की और अपने 10 ओवर में 29 रन देकर 4 विकेट लिए। वहीं आखरी मैच खेल रही झूलन और राजेश्वरी गायकवाड़ ने 2-2 विकेट चटकाते हुए इंग्लैंड को 152 पर समेत कर 16 रनों से मैच जीत लिया।
Tags: Cricket

Related Posts