कोरोना काल के दौरान शहीद हुये डॉक्टरों के लिए केजरीवाल ने भारतरत्न की मांग, प्रधानमंत्री को लिखा पत्र

कोरोना काल के दौरान शहीद हुये डॉक्टरों के लिए केजरीवाल ने भारतरत्न की मांग, प्रधानमंत्री को लिखा पत्र

जरूरत पड़ने पर नियमों में बदलाव या संशोधन करने का किया अनुरोध

देश भर में कोरोना महामारी का कहर छाया हुआ है। ऐसे में मरीजों की सेवा करने के लिए डॉक्टर, नर्स और पेरामेडिकल स्टाफ ने काफी महत्वपूर्ण योगदान दिया है। इस दौरान कई डॉक्टर तथा नर्सों ने अपनी जान भी गंवाई है। इस बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कोरोना के कारण मृत्यु को प्राप्त हुये सभी डॉक्टर्स, नर्स और पेरा मेडिकल स्टाफ को भारत रत्न देने की मांग की है। इस बारे में अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री को एक पत्र भी लिखा है।
अपने पत्र में केजरीवाल ने लिखा कि कोरोना के सामने लड़ाई में कई डॉक्टर और नर्स शहीद हुये है। यदि भारत सरकार इन सभी डॉक्टर और नर्सों को भारत रत्न देती है तो वह इन सभी के लिए एक सच्ची श्रद्धांजलि होगी। अपनी जान और परिवार की चिंता किए बिना इन सभी ने मरीजों की निस्वार्थ भाव से सेवा की है। जिसके लिए भारत रत्न के अलावा और कोई सम्मान नहीं हो सकता।  

केजरीवाल ने कहा कि इस से सारा देश खुश होगा। यदि इसके लिए किसी कानून में बदलाव करना पड़े या कोई संशोधन करना पड़े तो वह भी करना चाहिए। बता दे कि कोरोना महामारी के दौरान जब पूरे देश में अचानक से संक्रमण बढ़ा था तब डॉक्टरों ने दिन-रात भूल कर लोगों की सेवा की थी। इंडियन मेडिकल असोशिएशन के अनुसार, दूसरी लहर के दौरान कोरोना के कारण 730 डॉक्टरों ने अपनी जान गंवाई थी। जिसमें सबसे अधिक बिहार में 115, इसके बाद दिल्ली में 109, यूपी में 79, बंगाल में 62, राजस्थान में 43, झारखंड में 39, आंध्रप्रदेश में 38 डॉक्टरों की मौत की हुई थी। इसके पहले कोरोना की पहली लहर में भी 748 डॉक्टरों की मौत हुई थी। 
Tags: