गाँधी जयंती के दिन लेह में हुआ दुनिया के सबसे बड़े खादी राष्ट्रीय ध्वज का अनावरण

(Photo Credit : IANS)

ध्वज की लंबाई 225 फीट और चौड़ाई 150 फीट और वजन 1000 किलोग्राम, 70 कारीगरों को 49 दिन में बनाया ध्वज

आज देशभर में महात्मा गांधी की 152वीं जयंती मनाई जा रही है। इस मौके पर अलग-अलग कार्यक्रम आयोजित कर बापू को याद किया जा रहा है। इसी बीच लेह में दुनिया का सबसे बड़ा खादी राष्ट्रीय ध्वज लगाया गया। जिसका अनावरण लद्दाख के उपराज्यपाल आरके माथुर ने सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे की उपस्थिति में किया।
आपको बता दें कि देश के केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख की राजधानी लेह की जनस्कार पहाड़ी पर इस तिरंगे को लगाया गया है। इस ध्वज की लंबाई 225 फीट और चौड़ाई 150 फीट और वजन 1000 किलोग्राम है। इस तिरंगे को मुंबई की एक प्रिंटिंग कंपनी की मदद से तैयार किया गया है।
आपको बता दें कि लद्दाख के 2 दिवसीय दौरे पर गये सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे सेना के कई वरिष्ठ अधिकारियों के साथ इस कार्यक्रम में शामिल हुए। इस बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने ध्वज अनावरण को भारत के लिए बहुत गर्व का क्षण बताया। मंडाविया ने ट्वीट करते हुए लिखा कि गांधी जी की जयंती पर लद्दाख के लेह में दुनिया के सबसे बड़े खादी तिरंगे का अनावरण किया गया। मैं इस भाव को सलाम करता हूं, जो बापू की स्मृति को याद करता है। भारतीय कारीगरों को बढ़ावा देता है और राष्ट्र का सम्मान करता है।
जानकारी के अनुसार इस तिरंगे को तैयार करने के लिए करीब 4500 मीटर खादी के कपड़े का इस्तेमाल किया गया है। तिरंगा कुल 37,500 वर्ग फीट के इलाके को कवर करता है। इस राष्ट्रीय ध्वज को बनाने के लिए 70 कारीगरों को 49 दिन लगे हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें