जब भविष्यवाणियां सच साबित हुई तो आप ने कहा, 'अरविंद केजरीवाल से पंगा मत लो!'

पंजाब फतह करने के बाद केजरीवाल से मिलने दिल्ली पहुंचे भगवंत मान

5 विधानसभा चुनावों के परिणाम सामने आ चुके हैं। सबसे आश्चर्यजनक नतीजे पंजाब से मिले हैं। यहां आम आदमी पार्टी ने बाकी सभी दलों का सूपड़ा साफ कर दिया है। 92 सीटें हासिल करके दो तिहाई बहुमत से आम आदमी पार्टी पंजाब में अपनी सरकार बनाने जा रही है। जीत के इस लम्हों के बीच आम आदमी पार्टी ने अपने सोशल मिले हैंडल पर एक बड़ा ही रोचक वीडियो साझा किया है और उसमें  लिखा है, 'कभी केजरीवाल से पंगा मत लेना!'
जी हां, यह वीडियो समाचार चैनल आज तक के एक कार्यक्रम का है। इस कार्यक्रम में दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल को बतौर मेहमान बुलाया गया था। उनके साथ पंजाब के आम आदमी पार्टी के मुख्यमंत्री के चेहरे भगवंत मान भी थे। साक्षात्कार के दौरान अरविंद केजरीवाल से पंजाब के चुनावी भविष्य का आकलन करने को कहा गया था। तब अरविंद केजरीवाल ने हल्के-फुल्के अंदाज में कागज पर बाकायदा 3 भविष्यवाणियां लिखी थीं। पहले  उस भविष्यवाणी बाला वीडियो यहां दिया है, उस पर नजर कर लें। इस मजेदार वीडियो में अरविंद केजरीवाल की तीन भविष्यवाणियों को क्रमशः दिखाया गया है और चुनावी नतीजे के दिन जैसे-जैसे वे भविष्यवाणियां सच साबित हो रही थी, उस वक्त समाचार चैनलों पर लाइव दृश्य कैसे दिख रहे थे वह भी साझा किये गये हैं। 
अरविंद केजरीवाल ने भविष्यवाणी करते हुए लिखा था कि पंजाब के मुख्यमंत्री चन्नी साहब दोनों सीटें हार रहे हैं। अपनी दूसरी भविष्यवाणी में अरविंद केजरीवाल ने विरोधियों के इस दावे कि भगवंत मान धुरी विधानसभा क्षेत्र से 20,000 वोटों से हारेंगे, के विपरीत भविष्य कथन किया कि भगवंत मान कम से कम 51000 वोटों से जीतेंगे। हुआ भी यही भगवंत मान 58206 वोटों से मैदान मार गए। अपनी तीसरी भविष्यवाणी के रूप में भगवंत मान के कहने पर अरविंद केजरीवाल कागज पर लिखते दिख रहे हैं कि पंजाब में बादल परिवार 5 सीटों पर चुनाव लड़ रहा है और वे पांचों सीटों पर पराजित होंगे। हुआ भी यही।
इस मजेदार वीडियो पर लोग भी रोचक प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। सोशल मीडिया पर यूजर अरविंद केजरीवाल को भविष्य का प्रधानमंत्री बता रहे हैं। वे कह रहे हैं कि आने वाले समय में भाजपा को टक्कर देने वाला अब केवल एक ही राजनीतिज्ञ बचा है और वह है अरविंद केजरीवाल।
पंजाब फजह करने के बाद प्रदेश में मुख्यमंत्री की कमान संभालने जा रहे भगवंत मान दिल्ली पहुंचे और अरविंद केजरीवाल से मिले। उन्होंने केजरीवाल के पैर छूए और गले मिले। इस मौके पर दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी उपस्थित थे। 
आपको बता दें कि अब राजनीतिक पंडितों की नजर कुछ महीनों बाद गुजरात में होने वाले विधानसभा चुनावों पर है। यहां वैसे तो भाजपा और कांग्रेस के बीच सीधी टक्कर रहती है जिसमें दशकों से भाजपा का पलड़ा भारी रहता आया है। लेकिन विगत कुछ वर्षों में केजरीवाल की आम आदमी पार्टी ने गुजरात में भी अपनी पैठ बनाई है। विशेष रूप से स्थानीय निकाय चुनावों में आम आदमी पार्टी ने कुछ सीटें हासिल की है। पार्टी का सर्वाधिक प्रभाव सूरत में देखा गया है। भाजपा भी आम आदमी पार्टी के प्रभुत्व को कमजोर करने की तमाम रणनीति अपना रही है। विगत कुछ दिनों में सूरत में निकाय चुनाव में जीते आम आदमी पार्टी के पार्षदों में से कुछ को भाजपा में शामिल भी करवा लिया गया है। देखना होगा कि पंजाब में सटीक भविष्य कथन करने वाले अरविंद केजरीवाल आने वाले चुनाव में गुजरात में किस प्रदर्शन की उम्मीद रखते हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें