वापी : पुलिस ने नगर को छावनी में क्या बदला अपहरणकर्ता भाई अपहृत किशोरी को छोड़कर भागा

(Photo Credit : divyabhaskar.com)

पिछले एक साल से एक लड़की को प्रताड़ित कर रहा था युवक

वलसाड जिले में एकतरफा प्रेम मामले में युवक द्वारा नाबालिक लड़की के अपहरण मामले में नयी जानकारी सामने आई है। घटना की जानकारी मिलने के बाद युद्धस्तर पर कार्यरत पुलिस के हाथ बड़ी सफलता लगी है। रात भर की तलाशी के बाद आखिरकार पुलिस ने अपहरण हुई लड़की को खोज निकाला है। अपहरणकर्ता लड़की को रात में घने जंगल में अकेला छोड़कर फरार हो गए।
जानकारी के अनुसार पारडी के परिया वेलवागड झील फलिया निवासी सुनील जयेश चिबू पटेल अपने फुफेरी बहन से ही एकतरफा प्यार में था। भाई-बहन के इस पवित्र रिश्ते के बाद भी लड़का लड़की के साथ शादी करने की जिद करता था। युवक पिछले एक साल से एक लड़की को प्रताड़ित कर रहा था। घरवालों के बार-बार मनाए जाने के बावजूद सुनील अपनी जिद छोड़ने को तैयार नहीं था और बात करने पर लड़की के परिवार को जान से मारने की धमकी भी दी थी। शुक्रवार को युवक अचानक पीछे से लड़की के घर में घुसा और उसकी मां-चाचा के साथ-साथ एक बहन पर भी डंडे जैसे हथियार से हमला कर दिया, उन सभी के सिर, पैर और हाथ पर वार किया और लड़की को घर के पास एक खेत से दूर  नवीनगरी के घने जंगल में भाग गया। वहां सुनील लड़की को घने जंगल में छोड़कर भाग गया। इन सभी हरकतों में आरोपी का एक दोस्त भी शामिल था।
घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और जांच पड़ताल की। पुलिस ने रात के ड्रोन और तकनीकी विश्लेषण के साथ-साथ स्थानीय ग्रामीणों की मदद से जंगल में बचाव अभियान चलाया। पुलिस ने लड़की को बचाने के लिए इलाके की घेराबंदी कर दी। वलसाड जिले के एसपी डॉ राजदीप सिंह जाला, एलसीबी, एसओजी सहित पुलिस की टीम मौके पर तैयार रखी गई थी। देर रात और घने जंगल के कारण पुलिस को उन्हें ढूंढने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। हालांकि, सुबह-सुबह, पुलिस के प्रयास सफल रहे और उन्होंने लड़की को सुरक्षित पाया। लेकिन अभी तक दोनों युवकों को पकड़ा नहीं जा सका है। पुलिस ने उन्हें पकड़ने के लिए तलाशी अभियान तेज कर दिया है। पुलिस आगे जांच कर रही है कि लड़की के साथ क्या हुआ और अपहरणकर्ता लड़की को जंगल में छोड़कर क्यों भाग गए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें