वडोदराः वैक्सीन की दोनों खुराक लेने के बाद मरीज घर पर रहकर मात्र तीन दिन में कोरोना को हराया

डिप्टी ममलातदार शर्मिन माइकल गुर्जर

कोरोना के गंभीर प्रभावों से बचने के लिए वैक्सीन लेनी चाहिए

कोरोना के गंभीर प्रभाव से बचने के लिए वैक्सीन अवश्य लेना चाहिए। शार्मिन गुर्जर ने कहा कि वैक्सीन की दो डोज कोरोना को हराने के लिए पर्याप्त है। एक और कर्मयोगी ने साबित किया। वडोदरा जिला सेवा सदन में कार्यरत 28 वर्षीय डिप्टी ममलातदार शर्मिन माइकल गुर्जर ने वैक्सीन की दोनों डोज ली थी, जिससे उन्होंने  सिर्फ तीन दिनों में कोरोना को हराया है। उनके तेजी से ठीक होने का कारण कोविड टीका है। टीका लेने के कारण  तीन दिनों के भीतर, मेरी रिपोर्ट नकारात्मक आ गई। इन तीन दिनों में भी, केवल सर्दी-बुखार के सामान्य लक्षण देखे गए थे। 2018 में, शर्मिन को तपेदिक(टीबी) हु्आ था । वह इससे उबर गया, लेकिन तपेदिक के कारण  कोरोना का गंभीर प्रभाव होने की संभावना थी, परंतु  टीके की दो खुराक के साथ, प्रतिरक्षा प्रणाली काफी हद तक विकसित हो गई और वे घर पर अलग रहकर स्वस्थ हो गई।  
शर्मिन गुर्जर ने कहा कि मैंने वैक्सीन की दोनों खुराक ली है।" पहली खुराक 31  जनवरी को और दूसरी 3 मार्च को लिया था। वैक्सीन की दूसरी डोज लेने के 27 दिन बाद   30 मार्च को मुझे  कोरोना के लक्षण मालूम हुए। जिसमें बुखार, सर्दी था। 31 मार्च को रिपोर्ट कराया तो  मेरी रिपोर्ट सकारात्मक थी। उसके बाद मैं घर पर अलग रहकर और डॉक्टर द्वारा बताई गई दवा ली और जब मैंने 3 अप्रैल को रिपोर्ट की, तो मेरी रिपोर्ट नेगेटिव आई।
वैक्सीन लेने का लाभ यह था कि मैं कोरोना के गंभीर प्रभावों से बच सकी। गत 15 अप्रैल से मैं ड्यूटी पर आ गया। अभी मैं पूरी तरह से स्वस्थ हूं। मैं  विनम्रतापूर्वक आप सभी से कोरोना से बचने के लिए टीका लगवाने की अपील करता हूं। टीका लेने के बाद ही कोरोना रोग से बचा जा सकता है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें