उत्तर प्रदेश : तो क्या अब अयोध्या के बाद मथुरा की बारी? चुनाव से पहले उपमुख्यमंत्री ने दिया संकेत

(Photo Credit : tv9gujarati.com)

केशव प्रसाद मौर्य ने किया एक ट्वीट, अखिल भारतीय हिंदू महासभा ने भी की है ऐसी ही घोषणा

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का काम चल रहा है। हिंदुत्व के मुद्दे के साथ 80 के दशक के शुरुआत में राजनीति में आने वाली भारतीय जनता पार्टी ने अपना एक बहुत बड़ा वडा पूरा किया और अब ऐसा लगता है कि भाजपा आराम से बैठने वाली नहीं है। ऐसा हम नहीं बल्कि यूपी सरकार में सबसे ताकतवर माने जाने वाले बीजेपी के वरिष्ठ नेता योगी आदित्यनाथ के बाद उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के ट्वीट कह रहे है।
आपको बता दें कि  केशव प्रसाद मौर्य ने बुधवार सुबह ट्वीट किया कि ''अयोध्या काशी भव्य मंदिर निर्माण जारी है मथुरा की तैयारी है। "#जय_श्रीराम,
गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव की घोषणा में बहुत कम समय बचा है। राज्य में अगले साल की शुरुआत में चुनाव होने हैं। चुनाव को लेकर इस ट्वीट की कई व्याख्याएं हैं, लेकिन इससे भी ज्यादा महत्वपूर्ण 6 दिसंबर है। दरअसल, 6 दिसंबर वो दिन है जब 1992 को बाबरी मस्जिद को गिरा दिया गया था। बाबरी विवाद सैकड़ों वर्षों से चला आ रहा था लेकिन सुप्रीम कोर्ट के फैसले के साथ ही विवाद का समाधान हो गया है। विवादित स्थल पर भव्य राम मंदिर का निर्माण किया जा रहा है और अयोध्या जिले में एक अन्य स्थान पर भव्य मस्जिद का निर्माण भी किया जा रहा है। इसी बीच मथुरा में विवादित स्थल से शाही दरगाह को हटाने की मांग सालों से होती आ रही है। अखिल भारत हिंदू महासभा, श्री कृष्ण जन्मभूमि मुक्ति आंदोलन समिति, नारायणी सेना और कुछ अन्य संगठन जो खुद को भगवान कृष्ण का अनुयायी बताते हैं, मथुरा के जिला और सिविल जज (सीनियर डिवीजन) द्वारा ईदगाह हटाने की मांग कर रहे हैं। कोर्ट में मामला दर्ज किया गया है जो फिलहाल  विचाराधीन है।
ऐसे में फ़िलहाल मथुरा प्रशासन छह दिसंबर को लेकर अलर्ट पर है। दरअसल, अखिल भारतीय हिंदू महासभा ने 6 दिसंबर को श्री कृष्ण जन्मभूमि संकुल स्थित शाही ईदगाह में प्रवेश कर श्रीकृष्ण के बाल देवता का अभिषेक करने की घोषणा की थी। जिसके चलते जिला प्रशासन सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सतर्क हो गया है। जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ। गौरव ग्रोवर ने श्री कृष्ण जन्मभूमि संकुल और ईदगाह की सुरक्षा को लेकर संबंधित सुरक्षाकर्मियों और अधिकारियों को पूरी तरह से सतर्क रहने के निर्देश दिए हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें