उत्तर प्रदेश : चोरी के बाद चोरों ने पत्र समेत छोड़ा चोरी का सामान, पेश की इंसानियत की मिसाल

(Photo Credit: Pixabay.com)

उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में घटी अजीबोगरीब घटना

उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में चोरी की अजीबोगरीब घटना सामने आई है। वहां एक वेल्डिंग दुकान से हजारों का सामान चोरी करने के बाद दुकानदार की हालत की जानकारी होने पर चोरों ने सामान वापस कर दिया। उन्होंने माफी मांगते हुए पत्र भी लिखा था। चिट्ठी में चोरों ने वेल्डिंग की दुकान पर हाथ साफ करने के लिए झूठी सूचना देने का आरोप लगाया है।  चोरों ने लिखा- हमें नहीं पता था कि तुम इतने गरीब हो। उसने चोरी के सामान को बक्सों और बक्सों में पैक किया और उस पर चिपका दिया। अब यह घटना पूरे क्षेत्र में चर्चा का विषय बन गई है।
जानकारी के अनुसार बांदा के बिसंडा थाना क्षेत्र के चंद्रयाल गांव निवासी और आर्थिक रूप से कमजोर दिनेश तिवारी कुछ समय पहले ब्याज पर 40,000 रुपये लेकर वेल्डिंग का काम शुरू किया। 20 दिसंबर को जब वह अपनी दुकान खोलने पहुंचे तो ताला टूटा मिला। अंदर उसकी दुकान में रखे उपकरण व अन्य सामान चोरी हो गये थे। उन्होंने तुरंत घटना की सूचना बिसंडा थाने में दी लेकिन किसी कारणवश उनका मामला दर्ज नहीं हो सका। 22 दिसंबर को कुछ ग्रामीणों ने उन्हें बताया कि उनका सामान घर से कुछ ही दूरी पर एक सुनसान जगह पर रखा हुआ है। दिनेश जब वहां पहुंचे तो देखा कि चोरों ने उनका सामान फेंक दिया है।
जाँच में पता चला कि सामान एक बोरी और डिब्बे में पैक किया गया था। इस पर चोरों ने एक चिट्ठी चिपका दी थी। पत्र में कहा गया है, "यह दिनेश तिवारी का सामान है। हमने आपके बारे में एक बाहरी व्यक्ति से पता चला लेकिन जब हमें पता चला तो हमें बहुत दुख हुआ। इसलिए हम आपकी सामग्री लौटा रहे हैं। गलत स्थान के कारण हमसे गलती हुई है।“ पत्र से प्रतीत होता है कि चोर कहीं बाहर से आए थे और वे स्थानीय लोगों को नहीं जानते थे। जबकि चोरों की मदद करने वाला स्थानीय था। हो सकता है उसने जानबूझकर चोरों को घर का खराब पता दिया हो।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें