सऊदी अरब की यात्रा हुई आसान, एक दिसंबर से भारत समेत 6 देशों के यात्रियों को मिलेगा सीधे प्रवेश

प्रतिकात्मक तस्वीर (Photo Credit : Pixabay.com)

कोरोना के चलते 15 मार्च, 2020 को सऊदी अरब ने वायरस के प्रसार को रोकने में मदद करने के लिए सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक लगा दी थी

कोरोना वायरसके कारण ये समय संयुक्त अरब अमीरात समेत कई देशों और अन्य देशों के यात्रियों के लिए परेशानी का सबब बन रहा है। सऊदी अरब ने घोषणा की है कि वह भारत और पाकिस्तान सहित छह देशों के पर्यटकों पर यात्रा प्रतिबंध हटा देगा। उन्होंने कहा कि निर्देश पूरी तरह से टीका लगाए गए पर्यटकों तक सीधे पहुंच प्रदान करेगा। इससे उन्हें देश में प्रवेश करने से पहले अपने देश से बाहर 14 दिनों तक क्वारंटाइन में नहीं रहना पड़ेगा। सऊदी अरब ने एक दिसंबर से भारत समेत 6 देशों के यात्रियों को देश में सीधे प्रवेश करने की इजाजत दे दी है।
दरअसल, कोरोना के चलते सऊदी अरब में प्रवेश के लिए यात्रियों को कई तरह के नियमों का पालन करना होता था। सऊदी अरब के आंतरिक मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि यह बदलाव 1 दिसंबर को सुबह 1 बजे से प्रभावी होगा। सऊदी अरब के एक बयान के अनुसार, भारत, पाकिस्तान, ब्राजील, इंडोनेशिया, वियतनाम और मिस्र के यात्रियों को किसी तीसरे देश में क्वारंटाइन किए बिना 14 दिनों के लिए देश में प्रवेश करने की अनुमति होगी। मंत्रालय ने कोरोना नियमों के कड़ाई से पालन और पालन पर जोर दिया है। भारत से बड़ी संख्या में मुस्लिम तीर्थयात्री सऊदी अरब के मक्का और मदीना शहरों में उमराह पर रोजाना आते हैं।
आपको बता दें कि कोरोना के चलते 15 मार्च, 2020 को सऊदी अरब ने वायरस के प्रसार को रोकने में मदद करने के लिए सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक लगा दी थी। वहीं, 17 मई, 2021 को अंतरराष्ट्रीय उड़ान सेवा का निलंबन उन 20 देशों के लिए हटा जहां करोनो का प्रभाव अधिक नहीं था। प्रतिबंधों में लेबनान, संयुक्त अरब अमीरात, मिस्र, तुर्की, संयुक्त राज्य अमेरिका, ब्रिटेन, जर्मनी, फ्रांस, इटली, आयरलैंड, पुर्तगाल, स्विट्जरलैंड, स्वीडन, ब्राजील, अर्जेंटीना, पाकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका, भारत, इंडोनेशिया और जापान शामिल हैं। इससे पहले फरवरी में भी कोरोना मामलों में वैश्विक वृद्धि के कारण सीधे प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें