टोक्यो ओलंपिक 2020: अगर हुआ ऐसा तो बन जायेगा इतिहास, भारत को गोल्फ में मिल सकता है अपना पहला ओलंपिक पदक

(Photo Credit : sandesh.in)

अदिति के पास गोल्ड मेडल जीतने का बेहतरीन मौका, भारतीय महिला गोल्फर अदिति महिला व्यक्तिगत स्ट्रोक खेल में तीसरे दौर के बाद दूसरे स्थान पर

टोक्यो ओलंपिक में भारत के सभी खिलाड़ी अपना शतप्रतिशत दे रहे है। कुछ खिलाड़ी पदक लाने में सफल रहे तो बहुत से असफल रहे। इन सबके बीच ऐसा लग रहा है कि भारत के खाते में एक और पदक आ सकता है। दरअसल स्टार गोल्फर अदिति अशोक ने अपने शानदार प्रदर्शन से पदक की उम्मीदें जगा दी हैं। अदिति महिला व्यक्तिगत स्ट्रोक खेल में तीसरे दौर के बाद दूसरे स्थान पर है। ऐसे में अदिति के पास गोल्ड मेडल जीतने का बेहतरीन मौका है। अगर खराब मौसम के कारण शनिवार, 7 अगस्त को चौथा और अंतिम दौर नहीं होता है तो अदिति रजत पदक जीत सकती है। और अगर फाइनल राउंड खत्म हो जाता है तो वह गोल्ड मेडल जीतने के प्रबल दावेदार होंगी।
आपको बता दें कि अगर अदिति कोई भी पदक जीतती है तो यह भारतीय गोल्फ के लिए ऐतिहासिक क्षण होगा। भारत ने अभी तक ओलंपिक में गोल्फ में कोई पदक नहीं जीता है। पांच साल पहले तक अदिति अशोक को गोल्फ के दिग्गजों के बीच समय बिताते देखा जाता था। वह 2016 के रियो ओलंपिक में महिला गोल्फ स्पर्धा में सबसे कम उम्र की प्रतियोगी थीं। अब समय बदल गया है और वह टोक्यो ओलंपिक में पदक जीतने की राह पर है।
इस बारे में अदिति ने कहा, "रियो ओलंपिक में भाग लेने से मुझे अनुभव हुआ।" ओलंपिक विलेज में रहना और एथलीटों को देखना एक अद्भुत अनुभव था। मुझे लगता है कि मैं इस ओलंपिक में अच्छा प्रदर्शन करूंगी। मैं पदक जीतने की कोशिश करूंगी।
गौरतलब है कि यह केवल चौथी बार है जब ओलंपिक में गोल्फ खेला गया है। कासुमिगासेकी कंट्री क्लब में बुधवार को महिला गोल्फ मैच की शुरुआत हुई। पहले दिन स्वीडन की मेडेलीन ने सेगस्ट्रॉम 66 खेला और नंबर एक पर रहीं। अदिति अशोक ने पहले दिन 4 अंडर 67 खेले। उससे एक दिन पहले अमेरिका की नेल्ली कॉर्डा (67) संयुक्त दूसरे नंबर पर थीं। 23 वर्षीय अदिति अशोक ने गुरुवार को दूसरे दौर में और भी बेहतर प्रदर्शन किया। उसने 5 बर्डी के साथ 66 बर्डी खेली लेकिन दुनिया की नंबर एक गोल्फर नेल्ली कॉर्डा से पीछे रह गई।
नेल्ली कॉर्डा ने दूसरे राउंड में 62 का जबरदस्त कार्ड खेला और पहले नंबर पर कब्जा कर लिया। दो राउंड के बाद उनका कुल स्कोर 13-अंडर 129 था। तो अदिति के पास 133 थे। शुक्रवार को तीसरे दौर में कॉर्डा ने 69 रनों का कार्ड खेला और शीर्ष पर अपनी स्थिति बनाए रखी। अदिति ने तीसरे राउंड में 68 रनों का कार्ड खेला और इस बीच उन्होंने दूसरा स्थान बरकरार रखा है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें