बंगाल में ममता की लोकप्रियता की एक ये भी है वजह!

(Photo : IANS)

नहीं लेती सांसद पेंशन और मुख्यमंत्री पद का पगार, किताबों और गीत की रॉयल्टी से करती है अपना गुजारा

पश्चिम बंगाल के चुनाव के नतीजे आ गए है और लगातार तीसरी बार वह मुख्यमंत्री बनने जा रही है। चुनाव के दौरान भाजपा के सभी प्रत्याशियों द्वारा ममता बेनर्जी और उनके भतीजे पर कमीशन खाने के आरोप लगाए गए थे। हालांकि भाजपा द्वारा लगाए सभी आरोपों के बावजूद भी बंगाल की प्रजा ने अपना मत ममता की तृणमूल कांग्रेस को ही दिया है। तो आखिर बंगाल में क्यों इतनी लोकप्रिय है। इसका जवाब मिलता है उनके एक 2 साल पुराने इंटरव्यू में जो उन्होंने न्यूज़ 18 को दिया था। 
अपने इंटरव्यू में ममता ने बताया कि किस तरह ममता बेनर्जी अपना जीवन बिलकुल सादगीपूर्ण तौर से जीती है। तो आइये उस इंटरव्यू के कुछ अंश देखते है। ममता कहती है कि वह सात साल से संसद में है पर उन्होंने अब तक पेंशन नहीं लिया है। वह हमेशा इकोनोमिक क्लास में ही यात्रा करती है जिससे की वह सरकार का टीए और डीए भी बचाती है। इसके अलावा बंगाल की मुख्यमंत्री होने के बावजूद वह एक भी रुपए नहीं लेती। वह सरकार की गाड़ी का इस्तेमाल भी नहीं करती। जिस सरकारी गेस्ट हाउस में वह रहते है उसका भाड़ा भी वह अपने पैसों से देती है। यहाँ तक की वह चाय भी अपने पैसों से ही पीती है। 
आगे बात करते हुये ममता कहती है कि, अब आप कहेंगे की आपके पास इतने रुपए आते कहाँ से है? उनके अबतक 87 पुस्तक प्रकाशित हो चुके है, जो कि बेस्ट सेलर है। इसकी रॉयल्टी उन्हें मिलती है। इसके अलावा उन्होंने कई गाने भी लिखे है और उन्हें संगीतबद्ध भी किया है। जिसकी रॉयल्टी भी उन्हें मिलती है। इसके अलावा वह चित्र भी बनाती है। हालांकि चित्रों द्वारा हुई कमाई वह दान कर देती है। गीत और किताबों की रॉयल्टी मिलाकर 10 से 12 लाख रुपए मिल जाते है। वह अकेले है, ऐसे में इतने रुपए उनके लिए काफी है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें