ये देश हुआ कोरोना मुक्त, मास्क पहनने से मिली मुक्ति

कोरोना की दूसरी लहर में युवा बन रहे है अधिक शिकार, वैक्सीनेशन हो सकता है केसों को कम करने में काफी मददगार

पूरे विश्व में कोरोना की दूसरी लहर ने अपना कहर ढाया हुआ है। अधिक से अधिक युवा कोरोना की इस दूसरी लहर में उसका शिकार बन रहे है। भारत में पिछले कई दिनों से लगातार 2 लाख से अधिक केस सामने आ रहे है और 1500 से अधिक लोगों की मृत्यु इस कोरोना के कारण हो रही है। ऐसे में एक देश ऐसा भी है जिसने खुद को कोरोना मुक्त देश जाहीर कर दिया है। 
एक तरफ जहां पूरे विश्व में अभी भी कोरोना के केस लगातार सामने आ रहे है। इजरायल पहला ऐसा देश बन चुका है, जिसने खुद को कोरोना से मुक्त जाहीर कर दिया है। इजरायल ने अपने सामूहिक वैक्सीनेशन के अभियान के बाद कोरोना के नियमों में थोड़ी सी छुट दी है। देश में स्कूलें फिर से खुल चुकी है और बच्चे अपनी क्लास में जाने लगे है। स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा सार्वजनिक जगहों पर मास्क पहनने के नियम को भी बाड्न कर दिया गया है। हालांकि बड़ी सभाओं में में अभी भी मास्क जरूरी नहीं है। 
बेंजामिन नेतन्याहू( PM, इजरायल)
इजरायल ने अपने देश में काफी तेजी से लोगों का वैक्सीनेशन किया है। यही कारण है की वहाँ कोरोना के प्रतिबंध हटा लिए गए है। मई महीने से देश में विदेशी पर्यटकों को भी आने की अनुमति दी जाएगी और उनका वैक्सीनेशन भी किया जाएगा। इसके पहले स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा बताया गया थी की महामारी की शुरुआत से ही भारत में कोरोना वायरस के 8 लाख 36 हजार केस थे और इसके कारण 6 हजार 331 लोगों की मौत हुई थी। 
इजरायल के 9.3 मिलियन नागरिकों में से 53 प्रतिशत लोगों को वैक्सीन के दो डोज़ दे दिये गए है। दिसंबर में जब से देश ने अपना वैक्सीनेशन शुरू किया है। तब से गंभीर केस और मौत में कमी आई है। हालांकि अभी भी कुछ हिस्सों में वैक्सीनेशन अभियान मंद गति से चल रहा है। जिसके कारण कई लोगों ने सरकार की निंदा की है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें