भाजपा के इस सांसद ने कोरोना वोर्ड के गंदे टॉयलेट को देख खुद ही शुरू की सफाई

(Photo Credit : bhaskar.com)

मध्यप्रदेश के रीवा से सांसद बने जनार्दन मिश्रा ने ली कोरोना सेंटर की मुलाक़ात, गंदगी देख खुद ही सफाई करने बैठे

देश भर में कोरोना महामारी अपने चरम पर है। महामारी को काबू में लेने के लिए सरकार द्वारा कई कदम उठाए जा रहे है। कुछ नेता तो कोरोना सेंटर्स में सिर्फ फोटो लेने जाते हैं। कुछ नेता होते है जो स्टाफ की खामियाँ ढूंढ कर उन्हें फटकार भी लगाते है। लेकिन कुछ नेता ऐसे भी हैं जो काम करके एक मिसाल कायम करते हैं। कुछ ऐसा ही देखने मिला मध्यप्रदेश में जब एक सांसद कोरोना केंद्र पर पहुंचे तो वहाँ के टॉयलेट में हुई गंदगी को देखकर खुद ही उसे साफ करने लग गए। 
हम बात कर रहे है मध्य प्रदेश के रीवा से सांसद चुने गए जनार्दन मिश्रा की। जनार्दन मिश्रा खुद स्वच्छता के खुद आग्रही है। उन्होंने हाल ही में मऊगंज इलाके के कुंजबिहारी कोरोना केयर सेंटर का दौरा किया था। वह वहां अन्य सभी व्यवस्थाओं को देखने के बाद वह सीधे शौचालय में चले गए। शौचालय में इतनी गंदगी थी कि अगर कोई बीमार आदमी वहाँ जाये तो उसकी तबीयत और खराब हो जाये। इस पर सांसद को बहुत बुरा लगा। पहले तो उन्होंने स्टाफ को इस बारे में फटकार लगाई पर फिर ग्लव्स पहनकर खुद ही टॉयलेट की सफाई करने लगे। 

वहां मौजूद कर्मचारियों की हालत तो ऐसी हो गई कि वह क्या करें और क्या न करें। लेकिन किसी भी सरकारी अधिकारी ने उनकी मदद करने की हिम्मत नहीं की। क्योंकि यह एक कोरोना सेंटर था। लेकिन बीजेपी के कुछ कार्यकर्ताओं ने पानी लाकर उनकी मदद की। मिश्राजी में ऐसा जुनून था कि वह तब तक शौचालय कि सफाई करते रहे जब तक वहाँ कि काली पड़ी हुई टाइल्स सफ़ेद नहीं हुई। 
जनार्दन मिश्रा रीवा से दूसरी बार सांसद बने हैं। उन्होंने इससे पहले भी कोविड केयर सेंटरों की सफाई के लिए कलेक्टर से अनुमति मांगी थी। स्वच्छता के प्रति उनका समर्पण ऐसा है कि प्रधानमंत्री मोदी भी उनकी प्रशंसा कर चुके हैं। हालांकि, ऐसे सांसद बहुत कम होते हैं। फिलहाल कई सांसद संक्रमित होने के डर से घर से बाहर भी नहीं निकलते हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें