दुनिया के सबसे महंगे इस मियाझाकी आम की कहानी बड़ी दिलचस्प है!

(Photo :Dainikbhaskar.com)

एक आम की कीमत 2.7 लाख, रखवाली में तैनात 3 गार्ड और 9 कुत्ते

आम किसे नहीं पसंद होते, हर कोई इसके दीवाने हैं। गर्मियों की शुरुआत के साथ ही आम का मौसम शुरू हो जाता है। इस मौसम में आम के दीवाने छक के आम खाते हैं। लेकिन क्या आपने कभी सुना है कि किसी एक आम की कीमत लाखों में हो? हम जिस आम की बात कर रहे है उस आम का नाम मियाज़ाकी है। इस एक आम  की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में 2 लाख 70 हजार रुपये बताई जा रही है। ऐसे में इस आम की सुरक्षा के लिए खास इंतजाम किये गये हैं।
आपने सोना-चांदी और अन्य  कीमती सामानों की रखवाली करने के बारे में तो सुना होगा, लेकिन आम की सुरक्षा के बारे में शायद ही आपने कभी सुना हो। लेकिन जानकर हैरानी होगी कि मध्यप्रदेश के जबलपुर में मियाज़ाकी के आम के एक बगीचे की सुरक्षा के लिए 3 गार्ड और 9 कुत्ते लगे हैं। यह खास किस्म का आम जापान में पाया जाता है। जानकर हैरानी होगी कि इस बगीचे में लगे आम की कीमत रखवाली के लिए कुत्ते और गार्ड्स 24 घंटे बगीचे में तैनात रहते हैं।
(Photo :divyabhaskar.com)
आपको बता दें कि जबलपुर में रानी और उनके पति संकल्प परिहार ने यह कीमती आम लगाया है।  इस आम का छिलका नारंगी नहीं बल्कि बैंगनी रंग का होता है।  मियाज़ाकी दुनिया के सबसे महंगे आमों में से एक है। इस जापानी आम का नाम टाइयो नो टमैंगो है, इसे एग ऑफ सन यानी सूर्य का अंडा भी कहा जाता हैं। पिछले दिनों यह आम काफी चर्चा में आया था। जिसकी वजह से आम की चोरी भी हो गई थी। इसलिए अब इसकी सुरक्षा पर अतिरिक्त पैसा खर्च किया जा रहा है। भारत में इस आम की खेती और कहीं नहीं होती है। 
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पिछले साल अंतरराष्ट्रीय बाजार में आम 2.70 लाख रुपये प्रति किलो बिका था.  इस दुर्लभ किस्म के आम को लगाने वाले संकल्प परिहार ने बताया कि एक बार जब वो चेन्नई से ट्रेन में कुछ पौधे खरीदने जा रहा था, तो एक अजनबी भाई ने उन्हें एक पौधा दी। इस इंसान ने उस पौधा को लगाने और एक बच्चे की तरह उसकी देखभाल करने को कहा। उन्हें पता नहीं था कि यह पौधा मियाज़ाकी आम की है।  यह पौधा किस आम की किस्म है, यह जाने बिना हमने इसकी देखभाल की। जब हमें पता चला कि यह मियाज़ाकी आम है।  मैंने इस आम का नाम अपनी मां दामिनी के नाम पर रखा। दुनिया के लिए भले ही मियाज़ाकी आम हो, मेरे लिए दामिनी है और रहेगी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें