सूरत में बना देश का पहला डायमंड ऑक्शन सेंटर, एक दिन का किराया एक लाख रुपया

जेम्स एंड ज्वेलरी प्रमोशन काउंसिल द्वारा बनाया गया है नया ऑक्शन सेंटर

जेम्स एंड ज्वेलरी प्रमोशन काउंसिल (GJEPC) द्वारा सूरत में भारत के सबसे पहले ऑक्शन हाउस का उद्घाटन होने जा रहा है। 16 तारीख को होने वाले इस उद्घाटन समारोह में जहां ऑक्शन हाउस बनाया गया है, उसका एक दीन का किराया एक लाख रूईया तय किया गया है। यह ऑक्शन हाउस तकरीबन 4 करोड़ रुपए की लागत से बना हुआ है, जो की 2200 स्क्वेर फिट में फैला हुआ है। 
ऑक्शन सेंटर में सलामत तिजोरी, लॉकर सिस्टम, कॉन्फ्रेंस हॉल और एडवांस सिक्यूरिटी सिस्टम के साथ प्रदर्शन इलाके की सभी सुविधा दी गई है। जिसके चलते डायमंड माइनिंग कंपनियाँ हीरे के ऑक्शन के लिए सूरत आ सकते है। भारत में ऑक्शन हाउस तैयार करने के लिए तीन एजंसियाँ मान्यता देती है। जिसमें सेंट्रल गवर्नमेंट एजंसी, स्टेट गवर्नमेंट एजंसी या GJEPC शामिल है। यह ऑक्शन हाउस खुद GJEPC द्वारा ही बनाया गया है, जिसमें कॉन्फ्रेंस रूम, सेफ डिपॉजिट वॉल्ट, 11 विविंग कैबिन मिलकर कुल 15 कैबिन की व्यवस्था की गई है। 
जीजेईपीसी के रीजनल चेयरमैन दिनेश नावड़िया के मुताबिक सूरत में कई कंपनियां खरीदने, बेचने और नीलामी करने आती थीं लेकिन उनमें से कुछ का आयोजन होटलों में किया जाता था। जहां लाइट, सुरक्षा समेत लॉकर की कोई सुविधा नहीं थी। ऐसे मूल्यवान सामानों की सुरक्षा संबंधी समस्याएं भी उनके लिए एक प्रमुख चिंता का विषय थीं। पर नए बने ऑक्शन हाउस में उन्हें अपनी कीमती चीजों को रखने के लिए तिजोरी और लॉकर सुविधा भी मिलेगी।
जीजेईपीसी के मुताबिक यहां रफ पॉलिश वाले हीरे, आभूषण और रत्न खरीदे, बेचे और नीलाम किए जा सकते हैं। दुनिया का कोई भी व्यापारी इस नीलामी घर का उपयोग कर सकेगा। इस ऑक्शन हाउस का एक दिन का किराया एक लाख तय किया गया है, जहां 18 तारीख को पहला कार्यक्रम भी होने वाला है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें