सूरत : व्यापार उद्योग में सफल होने के लिए दूसरों से अलग करना होगा, गुणवत्ता बनाए रखने का मतलब है ब्रांडिंग: सीए जय छैरा

चेम्बर ऑफ कोमर्स द्वारा ब्रान्डिंग पर आयोजित सेमिनार

चैंबर ऑफ कॉमर्स ने ब्रांडिंग इज नॉट ब्रैंड न्यू, नो द मीनिंग, नेचर, एंड सिग्नीफिकेन्ट ऑफ ब्रांडिंग पर एक सेमिनार का आयोजन किया

दक्षिण गुजरात चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ने समृद्धि, नानपुरा, सूरत में ब्रांडिंग पर एक सेमिनार बिल्कुल नया नहीं है  ब्रांडिंग ,  ब्रांडिंग के अर्थ, प्रकृति और महत्व को जानें। जिसमें जर्मनी, इटली, अमेरिका, ब्रिटेन और चीन से कुल 29 डिग्री हासिल करने वाले जाने-माने चार्टर्ड एकाउंटेंट जय छैरा और विभिन्न सरकारी निकायों के साथ काम करने वाले जय छैरा ने एक विशेषज्ञ वक्ता के रूप में युवा उद्यमियों को महत्वपूर्ण मार्गदर्शन दिया।

अब कोई भी नागरिक ब्रांड एंबेसडर बन सकता है


चैंबर ऑफ कॉमर्स के तत्कालीन पूर्व अध्यक्ष आशीष गुजराती ने कहा कि आभूषण, सौर, रसायन और रंग, इलेक्ट्रिक वाहन, स्टार्ट-अप, सूरत डायमंड बर्से, मेगा टेक्सटाइल पार्क जैसे विभिन्न उद्योग अब ब्रांड बन जाएंगे। ब्रांडिंग पर फिल्म अभिनेताओं, खिलाड़ियों, राजनेताओं, व्यापारिक हस्तियों और धार्मिक नेताओं का एकाधिकार हुआ करता था। सोशल मीडिया की बदौलत अब कोई भी नागरिक ब्रांड एंबेसडर बन सकता है। एक आम नागरिक अब ब्लॉगर, इन्फ्लुएंसर, कंटेंट राइटिंग की गुणवत्ता और मीडिया प्रेजेंटेशन के जरिए ब्रांड एंबेसडर बन सकता है।

भारत ने सदियों पहले दुनिया को ब्रांडिंग दिखाई ,गुणवत्ता बनाए रखने का मतलब ब्रांडिंग


अध्यक्ष चार्टर्ड एकाउंटेंट जय छैरा ने कहा कि ब्रांडिंग के लिए सभी को काम करने की जरूरत है। सूरत एक ऐसा शहर है जो न केवल उद्योग में बल्कि अन्य क्षेत्रों में भी प्रगति कर रहा है, सूरत को भी ब्रांडेड किया जाना चाहिए। बैंगलोर की तरह सूरत को भी विकसित किया जा सकता है। भारत ने सदियों पहले दुनिया को ब्रांडिंग दिखाई है। गुणवत्ता बनाए रखने का मतलब ब्रांडिंग है। उन्होंने उद्यमियों को व्यवसाय में सफल होने के लिए खुद को दूसरों से अलग करने की सलाह दी।

बिजनेस में तेजी लाने के लिए सभी सेगमेंट पर ध्यान देना होगा


इसके अलावा, उन्होंने ब्रांड अखंडता के लिए उत्पाद, गुणवत्ता, विशेषताओं, भावनाओं, विज्ञापन, वेबसाइट और लोगो की विस्तृत समझ दी। बिजनेस में तेजी लाने के लिए सभी सेगमेंट पर ध्यान देना होगा। ब्रांड कभी पतला नहीं होना चाहिए। विकास के लिए विजन जरूरी है। पारिवारिक व्यवसाय को भी एक साथ बैठकर एक विजन बनाना होगा और एक वैश्विक दृष्टिकोण रखना होगा। विशेष रूप से वैश्विक स्तर पर उत्पाद की गुणवत्ता और ग्राहक की आवश्यकता को देखना होगा। सूरत में उद्यमियों को भी ब्रांडिंग को मिलाने की जरूरत है।

चैंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष हिमांशु बोडावाला ने समारोह का संचालन किया


इस अवसर पर चैंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष हिमांशु बोडावाला ने समारोह का संचालन किया। चैंबर के ग्रुप चेयरमैन बिजल जरीवाला ने कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार की। चैंबर के युवा उद्यमी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष करण गुजराती ने स्पीकर का परिचय दिया और सह-अध्यक्ष उमंग शाह ने कार्यक्रम का संचालन किया। समारोह का संचालन चैंबर के मानद मंत्री भावेश टेलर ने किया। अंत में मानद कोषाध्यक्ष भावेश गढ़िया ने सर्वेक्षण का आभार व्यक्त कर कार्यक्रम का समापन किया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें