सूरत : 33 लाख की लूट के मामले में सुपारी देने के आरोप में सोनू गढ़वाल समेत दो अन्य को हरियाणा से गिरफ्तार

सूरत पुलिस ने गिरफ्तार किए आरोपी

आरोपी सुरेश रामदास ऑड का गंभीर आपराधिक इतिहास है, वह दोहरे हत्याकांड और अन्य मामलों में 12 साल से जेल में बंद था

गिरफ्तार दोनो आरोपीओं का युपी और हरियाणा में ‌अपराधिक भुतकाल
 डिंडोली लूट मामले में 21 मई को पीएम आंगडिया के एक व्यक्ति को रिवोल्वर दिखाकर 33 लाख रुपये और नकदी लूट ली गई। लूट में शामिल कुख्यात हरियाणा हिसार गिरोह के दो सदस्यों के साथ-साथ लुटेरों को टीप देने वाले सूरत के एक व्यक्ति सहित कुल तीन को गिरफ्तार किया गया है, साथ ही एक इनोवा कार और दो मोबाइल फोन रुपये की कीमत के हैं।
21 मई को डिंडोली ओम नगर क्षेत्र में पीएम आंगडीया फर्म का प्रबंध अपनी बाइक पर करीब 33 लाख रुपये नकद लेकर जा रहा था, उसे रास्ते में रोखकर दो लोगों रिवोल्वर दिखाकर 33 लाख रुपये भरा बैग लुट कर फरार हो गए। घटना के आसपास कहीं भी सीसीटीवी नहीं था इसलिए पुलिस के समाने बड़ी चेलेन्ज था।  पुलिस के लिए चुनौती है कि अपराध को सुलझाएं और आरोपी को कैसे पकडे। 
दूसरी ओर, सूरत अपराध शाखा ने अपने गुप्तचरों को सक्रिय किया और पूरे मामले में हरियाणा के हिसार के एक कुख्यात गिरोह की संलिप्तता का विवरण पाया। जिसके आधार पर क्राइम ब्रांच की एक टीम हरियाणा गई थी।
वहां से क्राइम ब्रांच की टीम ने दोनों आरोपियों को पकड़ने में सफलता हासिल की है। हरियाणा से क्राइम ब्रांच की टीम ने सुरेश रामदास भगवान और रुपे राकेश गोधरा को गिरफ्तार किया। वहीं, इन दोनों लोगों को लूट की टीप देने वाले अश्विनी कुमार सुरजीत सिंह गढ़वाल को भी सूरत से गिरफ्तार किया गया है। इन तीनों आरोपियों के पास से आठ लाख पचास हजार रुपये नकद, एक इनोवा कार और दो मोबाइल फोन बरामद किए गए।आरोपी सुरेश रामदास ऑड हरियाणा में दोहरे हत्याकांड के आरोप में जेल में बंद था। उसे जमानत मिल गई और वह लूट को अंजाम देने के लिए सूरत आ गया।
अन्य आरोपी मोहित राधेश्याम गिर ने भी हरियाणा में कई अपराधों में शामिल है। दोनो आरोपीओं ने सूरत या गुजरात में अन्य किसी अपराध में शामिल है या नही उसकी जानकारी प्राप्त की जा रही है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें